• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

2024 से पहले आया बड़ा सर्वे, आज हों चुनाव तो किसकी बनेगी सरकार, पीएम मोदी के बाद कौन?

Google Oneindia News

नई दिल्ली, 12 अगस्त। पिछले कुछ महीनों में देश के सियासी समीकरण में काफी बदलाव देखने को मिले हैं। पहले जहां महाराष्ट्र में राजनीतिक उठापटक हुई और महाविकास अघाड़ी की सरकार गिर गई। जिसके बाद शिवसेना के भीतर हुई बगावत के चलते एकनाथ शिंद ने भाजपा के साथ मिलकर प्रदेश में सरकार का गठन किया। वहीं बिहार में ठीक इससे उलट भाजपा को नीतीश कुमार ने बड़ा झटका देते हुए एनडीए से अलग होने का फैसला लिया। नीतीश ने राजद, कांग्रेस, लेफ्ट और अन्य दलों के साथ मिलकर नई सरकार का गठन कर लिया। इन बदलावों के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि नीतीश कुमार पीएम मोदी को विपक्ष की ओर से कड़ी टक्कर दे सकते हैं।

Recommended Video

    Election 2024 से पहले बड़ा Survey, आज चुनाव हुए तो किसकी बनेगी सरकार | वनइंडिया हिंदी |*Politics

    इसे भी पढ़ें- पीएम फेस के सवाल पर बोले नीतीश कुमार- मेरे पास आ रहे बहुत सारे फोन, विपक्ष को करूंगा एकजुटइसे भी पढ़ें- पीएम फेस के सवाल पर बोले नीतीश कुमार- मेरे पास आ रहे बहुत सारे फोन, विपक्ष को करूंगा एकजुट

    क्या बदलेगा 2024 में माहौल

    क्या बदलेगा 2024 में माहौल

    दरअसल नीतीश कुमार ने एनडीए से अलग होने के बाद कहा था कि भाजपा को 2014 को भूल जाना चाहिए, वह भूतकाल है, उसे 2024 को लेकर चिंता करनी चाहिए। यानि इससे स्पष्ट है कि बिहार में हुआ राजनीतिक बदलाव सिर्फ बिहार तक ही सीमित नहीं रहने वाला है। इसका असर राष्ट्रीय राजनीति पर जरूर देखने को मिलेगा। हालांकि नीतीश कुमार ने यह जरूर कहा है कि वह पीएम की रेस में नहीं है लेकिन सियासी जानकारों का स्पष्ट मानना है कि उनकी महत्वाकांक्षा देश का पीएम बनने की है। लेकिन क्या सच में नीतीश कुमार या फिर कोई और अन्य विपक्ष का नेता पीएम मोदी और भाजपा को आगामी 2024 के चुनाव में टक्कर दे सकता है यह बड़ा सवाल है।

     सर्वे में किसे कितना फीसदी वोट मिला

    सर्वे में किसे कितना फीसदी वोट मिला

    हालांकि 2024 के लोकसभा चुनाव में अभी तकरीबन डेढ़ साल से अधिक का समय है लेकिन आज के मौजूदा हालात को देखते हुए अगर आज चुनाव कराए जाएं तो परिणाम क्या होंगे, इसको लेकर इंडिया टुडे-सी वोटर ने सर्वे कराया है। सर्वे के जो नतीजे सामने आए हैं वह भाजपा की अगुवाई वाली एनडीए बढ़त बनाती दिख रही है। यह सर्वे फरवरी 2022 से 9 अगस्त 2022 के बीच किया गया है, जिसमे 122016 लोगों ने हिस्सा लिया है। सर्वे के अनुसार अगर आज चुनाव कराए जाते हैं तो एनडीए को 41.4 फीसदी वोट मिलेंगे, यूपीए को 28.1 फीसदी वोट मिलेंगे जबकि अन्य को 30.6 फीसदी वोट मिलेंगे। यानि साफ है कि एनडीए की लोकप्रियता अभी भी लोगों के बीच बरकरार है।

     किसे कितनी सीट मिलेगी।

    किसे कितनी सीट मिलेगी।

    इस सर्वे के सामने आने के बाद यूपीए के लिए जरूर मुश्किल बढ़ती नजर आ रही है। सर्वे के अनुसार अगर आज चुनाव होते हैं तो एनडीए को 543 में से 307 सीटें मिलेंगी, जबकि यूपीए को सिर्फ 125 सीटों पर जीत मिलती नजर आ रही हैं। जबकि अन्य के खाते में 111 सीटें जाती नजर आ रही है। यानि सर्वे से साफ है कि आज चुनाव होते हैं तो एनडीए फिर से पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में सफल होगी और लगातार तीसरी बार यूपीए को सत्ता से बाहर रहना होगा।

    बिहार के समीकरण से बदलाव

    बिहार के समीकरण से बदलाव

    लेकिन दिलचस्प बात यह है कि 1 अगस्त 2022 तक के सर्वे में लिए गए आंकड़ों में एनडीए को 307, यूपीए को 125 और अन्य को 111 सीटों पर जीत मिलती नजर आ रही थी। वहीं बिहार के सियासी समीकरण बदलने के बाद जब 10 अगस्त को स्नैप वोटिंग कराई गई तो एनडीए को 286 सीट, यूपीए को 146 सीट, अन्य को 111 सीटों पर जीत मिलती नजर आ रही हैं। यानि बिहार में बदलाव के बाद एनडीए को 21 सीटों का नुकसान होता दिख रहा है, जबकि यूपीए को 21 सीटों का लाभ होता नजर आ रहा है। लिहाजा साफ है कि तेजस्वी के साथ नीतीश के जाने से एनडीए को 21 सीटों का नुकसान होता नजर आ रहा हैं। हालांकि इससे तेजस्वी की पार्टी राजद को लाभ मिलेगा, जबकि नीतीश को इसका कोई खास लाभ नहीं मिलेगा।

    वोट फीसद और सीटों का नंबर

    वोट फीसद और सीटों का नंबर

    अगर पिछले कुछ सालों में एनडीए और यूपीए के वोट फीसदी में बदलाव की बात करें तो एनडीए को 2014 में 38 फीसदी, 2019 में 45 फीसदी, 2020 में 42 फीसदी, 2021 में 40 फीसदी, 2022 में 41 फीसदी वोट मिलते नजर आ रहे हैं। वहीं यूपीए के वोट फीसदी की बात करें तो 2014 में यूपीए को 23 फीसदी, 2019 में 27 फीसदी, 2020 में 27 फीसदी, 2021 में 28 फीसदी अगस्त 2022 में 28 फीसदी वोट मिलते नजर आ रहे हैं। सीटों के लिहाज से बात करें तो 2014 में एनडीए को 356, 2019 में 352, 2020 में 316, 2021 में 298, 2022 में 307 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। वहीं यूपीए को 2014 में 59, 2019 में 96, 2020 में 93, 2021 में 105, 2022 में 125 सीटें मिलती नजर आ रही हैं।

     अबतक के सबसे बेहतर प्रधानमंत्री

    अबतक के सबसे बेहतर प्रधानमंत्री

    सर्वे के दौरान लोगों से यह सवाल भी पूछा गया कि अबतक का सबसे बेहतर प्रधानमंत्री कौन है। इस लिस्ट में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अबतक के सभी प्रधानमंत्रियों को पीछे छोड़ दिया है। पीएम मोदी को सबसे बेहतर प्रधानमंत्री की श्रेणी में 44 फीसदी वोट मिले हैं, जबकि अटल बिहारी वाजपेयी को 17 फीसदी, इंदिरा गांधी को 13 फीसदी, मनमोहन सिंह को 8 फीसदी, जवाहर लाल नेहरू को 5 फीसदी वोट मिले हैं।

     मोदी कैबिनेट में सबसे बेहतर मंत्री

    मोदी कैबिनेट में सबसे बेहतर मंत्री

    मोदी सरकार में सबसे बेहतर मंत्री कौन है, यह सवाल जब सर्वे में लोगों से पूछा गया तो पहले पायदान पर नितिन गडकरी का नाम सामने आया है। नितिन गडकरी को लोगों ने 22 फीसदी वोट दिया है, दूसरे नंबर पर राजनाथ सिंह हैं उन्हें लोगों ने 20 फीसदी वोट दिया है, तीसरे नंबर 17 फीसदी वोट के साथ अमित शाह, चौथे नंबर पर 4.7 फीसदी के साथ एस जयशंकर, पांचवे नंबर पर 4.6 फीसदी वोट के साथ स्मृति ईरानी का नाम है।

    नरेंद्र मोदी का उत्तराधिकारी कौन

    नरेंद्र मोदी का उत्तराधिकारी कौन

    सर्वे में लोगों से यह भी लोगों से पूछा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उत्तराधिकारी कौन होगा। इसमें सबसे अधिक 25 फीसदी वोट अमित शाह को मिला है, जबकि दूसरे नंबर पर योगी आदित्यनाथ हैं, जिन्हें 24 फीसदी वोट लोगों ने दिया है। तीसरे नंबर नितिन गडकरी आते हैं जिन्हें 15 फीसदी लोगों ने वोट दिया है। जबकि चौथे नंबर पर राजनाथ सिंह को 9 फीसदी वोट मिला, पांचवे नंबर पर 4.2 फीसदी वोट निर्मला सीतारमण को मिला है।

     विपक्ष का सबसे लोकप्रिय नेता

    विपक्ष का सबसे लोकप्रिय नेता

    वहीं विपक्ष को लेकर भी लोगों से इस सर्वे में सवाल पूछा गया है। लोगों से पूछा गया कि विपक्ष में सबसे लोकप्रिय नेता कौन है तो इस लिस्ट में पहले नंबर पर 27 फीसदी वोट के साथ अरविंद केजरीवाल का नाम सामने आता है। दूसरे नंबर पर 20 फीसदी वोट के साथ ममता बनर्जी हैं, तीसरे नंबर पर 13 फीसदी वोट के साथ राहुल गांधी हैं, 4.7 फीसदी वोट के साथ चौथे नंबर पर नवीन पटनायक और 3.9 फीसदी वोटों के साथ पांचवे नंबर पर शरद पवार का नाम आता है।

    सबसे अच्छा मुख्यमंत्री

    सबसे अच्छा मुख्यमंत्री

    देश में सबसे अच्छे मुख्यमंत्री को लेकर भी लोगों से सर्वे में सवाल पूछा गया। इस सर्वे में योगी आदित्यनाथ पहले पायदान पर रहे। उन्हें 40 फीसदी लोगों ने सबसे अच्छा मुख्यमंत्री बताया। दूसरे नंबर पर 22.3 फीसदी वोटों के साथ अरविंद केजरीवाल हैं, तीसरे नंबर पर 8.8 फीसदी वोट के साथ ममता बनर्जी हैं, एमके स्टालिन को 5 फीसदी वोट मिले हैं,पांचवे 4 फीसदी वोट के साथ वाईएसआर और नवीन पटनायक का नंबर आता है।

    कांग्रेस में कौन ला सकता है बदलाव

    कांग्रेस में कौन ला सकता है बदलाव

    कांग्रेस के भीतर कौन सा नेता सबसे अधिक बदलाव ला सकता है, इसके जवाब में सर्वे में लोगों ने सबसे अधिक 22.8 फीसदी वोट राहुल गांधी को दिया है। दूसरे नंबर पर 15.7 फीसदी वोट के साथ पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह हैं, तीसरे नंबर पर 13.7 फीसदी वोटों के साथ सचिन पायलट हैं। प्रियंका गांधी को 8.6 फीसदी लोगों ने वोट दिया है। जबकि सोनिया गांधी को 5.7 फीसदी लोगों ने वोट दिया है।

    Comments
    English summary
    If polls done today who will win and who can take place of PM Modi reveals survey.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X