'पति ने धोखे से मेरी किडनी बेच दी, क्योंकि मेरे मां-बाप उसे दहेज नहीं दे पाए'

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सरकारी और सामाजिक स्तर पर भले ही दहेज के खिलाफ आवाजें उठ रही हों, लेकिन दहेज का दानव देश के किसी ना किसी कोने में हर रोज बेटियों को अपना शिकार बना रहा है। दहेज के लिए बहू के साथ मारपीट की खबरें आपने सुनी होंगी, लेकिन पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आपका भी दिल दहल जाएगा। यहां दहेज की मांग पूरी ना होने पर एक व्यक्ति ने अपने भाई और मां के साथ मिलकर अपनी पत्नी की किडनी बेच डाली।

दहेज में मांगे थे दो लाख रुपए

दहेज में मांगे थे दो लाख रुपए

महिला की शिकायत के आधार पर पुलिस ने उसके पति और देवर को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि सास अभी फरार चल रही है। पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में रीता सरकार नामक महिला ने आरोप लगाया कि पति ने उसके परिजनों से दहेज में 2 लाख रुपए की मांग की थी। दहेज की मांग पूरी ना होने पर उसका पति और ससुराल के लोग उसके साथ अक्सर मारपीट करते थे। एक दिन उसके पति ने उसकी अपेंडिक्स का बीमारी का फायदा उठाते हुए धोखे से उसकी एक किडनी निकलवा कर बेच दी।

पति ने कहा कि ऑपरेशन का किसी से जिक्र ना करना

पति ने कहा कि ऑपरेशन का किसी से जिक्र ना करना

रीता ने बताया, 'करीब दो साल पहले मुझे अचानक पेट में दर्द हुआ। दर्द लगातार बना रहने पर मेरे पति मुझे कोलकाता के एक प्राइवेट नर्सिंग होम में लेकर गए। वहां मेरे पति और डॉक्टर ने मुझे बताया कि मेरा अपेंडिक्स का ऑपरेशन होगा, जिसके बाद मैं बिल्कुल ठीक हो जाऊंगी। लेकिन ऑपरेशन होने के बाद भी मेरा दर्द बना गया और धीरे-धीरे ज्यादा बढ़ने लगा। मैंने जब अपने पति से ये बात बताई तो उन्होंने मुझे कोलकाता में हुए ऑपरेशन के बारे में किसी से भी जिक्र ना करने की हिदायत दी। मैंने उनसे कहा कि वो मुझे डॉक्टर के पास लेकर चलें, लेकिन उन्होंने मेरी बात नहीं सुनी।'

'मेरी एक किडनी निकाली जा चुकी थी'

'मेरी एक किडनी निकाली जा चुकी थी'

रीता ने बताया, 'करीब तीन महीने पहले मेरे परिजनों ने एक रिश्तेदार के साथ मुझे नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल भेजा। वहां डॉक्टरों ने बताया कि मेरे शरीर में मेरी दाहिनी किडनी नहीं है। मैं यह सुनकर चौंक गई। इसके बाद मैंने मालदा के एक दूसरे नर्सिंग होम में अपनी जांच कराई और वहां मुझे पता चला कि वास्तव में मेरी एक किडनी निकाली जा चुकी है। तब मुझे समझ आया कि मेरे पति ने क्यों मुझसे यह कहा कि मैं कोलकाता वाले ऑपरेशन का जिक्र किसी ने ना करूं। उसने मेरी किडनी बेच दी थी, क्योंकि मेरे परिवार के लोग उसे 2 लाख रुपए नहीं दे पाए।'

पति-देवर गिरफ्तार, सास फरार

पति-देवर गिरफ्तार, सास फरार

इसके बाद रीता ने फरक्का पुलिस थाने में अपने पति बिश्वजीत सरकार, देवर श्यामल और अपनी सास बुलारानी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने महिला के पति और देवर को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसकी सास फरार बताई जा रही है। पुलिस ने बताया कि तीनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 19, धारा 21, धारा 307 और धारा 498 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने बताया कि पूछताछ में महिला के पति ने अपना गुनाह कबूलते हुए कहा कि उसने किडनी निकलवाकर छत्तीसगढ़ के एक व्यापारी को बेची थी। पुलिस कोलकाता के उस अस्पताल पर भी छापा मारेगी, जहां महिला का ऑपरेशन हुआ। पुलिस को शक है कि इस मामले को किडनी तस्करी गैंग भी शामिल है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Husband sells her wife kidney for 2 lakh dowry in West Bengal, arrested.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.