• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

संघ 'परिवार' को भी 'लव जिहाद' से है प्रेम!

|

लगता है कि बीजेपी और संघ परिवार ने कथित 'लव जिहाद' के खिलाफ अपनाए गए अपने स्टैंड को वापस ले लिया है। हाल ही में लखनऊ में हुई एक शादी में हिंदू दुल्हन और मुस्लिम दूल्हे को आशीर्वाद देने के लिए बीजेपी के कई बड़े नेता और केंद्र से लेकर राज्य सरकार के कई मंत्री भी पहुंचे थे। खास बात ये है कि इस शादी में न सिर्फ दो धर्मों का गठबंधन हुआ, बल्कि इसके जरिए बीजेपी और कांग्रेस के दो नेताओं के परिवारों का भी गठजोड़ हुआ।

 बीजेपी-संघ परिवार का स्टैंड बदल गया है?

बीजेपी-संघ परिवार का स्टैंड बदल गया है?

दि प्रिंट की खबर के मुताबिक हाल ही में लखनऊ के एक फाइव स्टार होटल ताज विवांता में बीजेपी महासचिव राम लाल की भतीजी श्रीया गुप्ता की शादी कांग्रेस नेता सुरहीता करीम के बेटे फैजान करीम के साथ संपन्न हुई। अगर इस शादी में वर-वधु को आशीर्वाद देने पहुंचे मेहमानों की बात करें तो उसमें केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, यूपी के राज्यपाल राम नाइक, राज्य के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा के साथ ही सुरेश खन्ना एवं नंद गोपाल नंदी जैसे मंत्री भी शामिल थे। सवाल उठता है कि क्या बीजेपी और संघ परिवार ने अब हिंदू-मुस्लिम प्रेम विवाह को मान्यता देना शुरू कर दिया है? अगर ऐसा है तो यह संघ परिवार की नीति में बहुत बड़े बदलाव का संकेत माना जाएगा। या फिर बीजेपी और संघ परिवार की नीति अपने लिए कुछ और एवं बाकियों के लिए कुछ और है? गौरतलब है कि बीजेपी में जिम्मेदारी मिलने से पहले राम लाल संघ के वरिष्ठ पद पर कार्यरत थे। दि प्रिंट के मुताबिक राम लाल ने उसके फोन या मैसेज का जवाब नहीं दिया। लेकिन, करीम के परिवार के एक सदस्य ने अपना नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि दोनो परिवार एक-दूसरे को दशकों से जानता है। वहीं दूसरे रिश्तेदार ने कहा कि यह दो परिवारों के बीच का मामला है, लेकिन नेताओं के पहुंचने के कारण इसे विवाद का शक्ल दिया जा रहा है।

 'लव जिहाद' को खतरनाक कहा था

'लव जिहाद' को खतरनाक कहा था

गौरतलब है कि बीजेपी के स्टार प्रचारक और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस तरह की शादी को लव जिहाद बताते हुए बहुत ही खतरनाक करार दिया था। इसके लिए उन्होंने एक हिंदू लड़की हादिया की शादी का हवाला दिया था, जिसने शाफिन जहां नाम के मुस्लिम युवक से शादी करने के बाद इस्लाम कबूल लिया था। मई, 2017 में केरल हाईकोर्ट से ये शादी रद्द होने के बाद यह राष्ट्रीय मुद्दा बन गया था। हालांकि, मार्च 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने केरल हाईकोर्ट के फैसले को पलटते हुए साफ किया था कि ये 'लव जिहाद' का मामला नहीं है।

बीजेपी पर दोहरे मानदंड अपनाने का आरोप

राम लाल की भतीजी की मुस्लिम युवक से शादी पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी से निकाले जा चुके यूपी के पूर्व मंत्री आई पी सिंह ने कहा है कि "इसे लव जिहाद नहीं कहा जाएगा, क्योंकि ये उनके अपने परिवार का मामला है...." वहीं भीम आर्मी के मुखिया चंद्र शेखर आजाद ने एक ट्वीट के माध्यम से आरएसएस और बीजेपी पर कटाक्ष किया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
forget love jihad bjp and rss leaders line up to bless hindu muslim couple
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X