• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ई-कॉमर्स साइट लॉकल को जगह दे रहीं, इलेक्ट्रोनिक्स बाजार में चीन फिर भी बहुत मजबूत

|

नई दिल्ली। भारत के चीन के बीच इन दिनों काफी ज्यादा तनाव है। चीन की ओर से भारतीय सैनिकों पर हमला किए जाने और इसमें 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद देश में कई जगहों पर प्रदर्शन भी हुए हैं। लोग मांग कर रहे हैं कि चीन में बने सामानों को इस्तेमाल में ना लाया जाए और उनका बहिष्कार किया जाए। ऐसा कर चीन को आर्थिक तौर पर चोट देने की कोशिश है। कई ई-कॉमर्स साइटों ने हाल के दिनों में ये कोशिश भी शुरू की है कि लोकल प्रोडक्ट को बढ़ावा दिया जाए लेकिन चीनी सामान से मुकाबला आसान नहीं है।

चीन इलेक्ट्रोनिक्स में मजबूत

चीन इलेक्ट्रोनिक्स में मजबूत

चीन तेजी जिन सामानों की मांग ज्यादा है, जैसे स्मार्टफोन और इलेक्ट्रॉनिक्स के सामानों का सबसे बड़ा हब है। ईटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ई-कॉमर्स से जुड़े लोगों का कहना है कि लंबे समय से वो स्थानीय सामान को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं। अब कोविड -19 और भारत-चीन सीमा पर तनाव के बाद इसमें कुछ तेजी भी आई है।

    Boycott Chinese Products: इन पांच Chinese companies का है भारतीय बाजार पर कब्जा | वनइंडिया हिंदी
    ई-कॉमर्स साइट लोकल को दे रही जगह

    ई-कॉमर्स साइट लोकल को दे रही जगह

    अमेजन और फ्लिपकार्ट दो बड़े प्लेयर हैं। ये दोनों ही पिछले कुछ हफ्तों से स्थानीय ब्रांड और छोटे निर्माताओं को बढ़ावा देने के लिए अभियान चला रहे हैं। अब चीन के सामानों को बायकॉट करने का अभियान शुरू होने से उनको भी फायदा हुआ है। स्नैपडील ने कहा है कि वो भारत के एमएसएमई को बिजनेस बढ़ाने के लिए लगातार प्लेटफॉर्म दे रहा है। हालांकि उन्होंने चीन से तनाव पर कुछ कमेंट नहीं किया।

     चीन और भारत के बीच तनाव

    चीन और भारत के बीच तनाव

    बता दें कि पूर्वी लद्दाख में एलएसी के पास चीन और भारत की सेनाएं आमने-सामने हैं। बीते एक महीने से ज्यादा समय से दोनों देशों के बीच तनाव है। दोनों सेनाओं में जारी तनातनी के बीच सोमवार रात को हिंसक झड़प हुई। जिसमें एक कर्नल सहित 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए। जिसके बाद भारत में ना सिर्फ आम लोग बल्कि केंद्रीय मंत्री और सांसद तक चीनी सामान का बहिष्कार कर देने का आह्वान लोगों से कर रहे हैं।

    ये भी पढ़िए- 'सीमा पर सैनिक शहीद हुए, हम चीन के उत्पादों का बहिष्कार तो कर ही सकते हैं': रामविलास पासवानये भी पढ़िए- 'सीमा पर सैनिक शहीद हुए, हम चीन के उत्पादों का बहिष्कार तो कर ही सकते हैं': रामविलास पासवान

    English summary
    E commerce players push local brands but the Chinese grip on electronics stays firm
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X