• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

शिवसेना से तनातनी के बीच इसी हफ्ते सीएम पद की शपथ लेंगे देवेंद्र फडणवीस!

|

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर शिवसेना से तनातनी के बीच देवेंद्र फडणवीस इसी हफ्ते सीएम पद की शपथ ले सकते हैं। बुधवार को भाजपा विधायक दल की बैठक है, जिसमें फडणवीस का नेता चुना जाना तकरीबन तय है। विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद देवेंद्र फडणवीस महराष्ट्र में भाजपा के सबसे बड़ा दल होने के नाते सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। जानकारी के मुताबिक, गुरुवार या शुक्रवार (31 अक्टूबर या 1 नवंबर) को फडणवीस दोबारा सीएम पद की शपथ लेंगे।

 सीएम पद को लेकर समझौते के मूड में नहीं भाजपा

सीएम पद को लेकर समझौते के मूड में नहीं भाजपा

बीजेपी को उम्‍मीद है कि शिवसेना बारी-बारी से दोनों दलों के मुख्‍यमंत्री बनाने की अपनी जिद छोड़ देगी और दोनों पार्टियों में बात बन जाएगी। भाजपा के एक नेता ने कहा है कि हमें उम्‍मीद है शिवसेना सरकार में शामिल हो जाएगी।

वहीं भाजपा इस बात के लिए बिल्कुल तैयार नहीं है कि ढाई साल शिवसेना का सीएम रहे। देवेंद्र फडणवीस ने कह दिया है कि 5 साल तक मैं ही मुख्यमंत्री रहूंगा।शिवसेना के साथ मुख्यमंत्री पद को लेकर 50-50 जैसा कोऊ फॉर्मूला नहीं है।

 शिवसेना अपनी मांग पर अड़ी

शिवसेना अपनी मांग पर अड़ी

शिवसेना का दावा है कि इस साल लोकसभा चुनाव से पहले 50-50 फॉर्म्युले के तहत दोनों दलों से ढाई-ढाई साल तक सीएम को लेकर ठाकरे, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और फडणवीस के बीच सहमति बनी थी। ऐसे में अब वो तभी भाजपा को सरकार बनाने के लिए समर्थन देगी, जब उसे लिखित में ढाई साल बाद सीएम पद देने की बात भाजपा कहेगी।

महाराष्ट्र में और बढ़ी रार, फडणवीस के बयान से खफा उद्धव ठाकरे ने रद्द की भाजपा के साथ बैठकमहाराष्ट्र में और बढ़ी रार, फडणवीस के बयान से खफा उद्धव ठाकरे ने रद्द की भाजपा के साथ बैठक

महाराष्ट्र में किसी एक दल को बहुमत नहीं

महाराष्ट्र में किसी एक दल को बहुमत नहीं

महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों पर चुनाव में बीजेपी के 105 और शिवसेना के 56 विधायक जीते हैं। कांग्रेस को 44 और एनसीपी को 54 सीटों पर जीत मिली है। बहुमत के लिए यहां 145 सीटों की जरूरत है, ऐसे में साफ है कि कोई एक पार्टी अपने दम पर सरकार नहीं बना सकती है। भाजपा-शिवसेना ने मिलकर चुनाव लड़ा है और दोनों दलों की सीटें भी बहुमत के आंकड़े से ज्यादा हैं लेकिन नतीजे आने के बाद से ही शिवसेना ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद पर अड़ी हुई है, वहीं भाजपा इस पर तैयार नहीं है।

English summary
devendra Fadnavis may take oath maharashtra cm Friday despite Shiv Sena spat
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X