• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दिल्ली हिंसा पर बोले प्रकाश सिंह बादल- देश में ना सेक्युलेरिज्म बचा ना समाजवाद

|

नई दिल्ली। पंजाब के पूर्व सीएम और शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल ने दिल्ली में हुई हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा है कि देश में धर्मनिरपेक्षता और समाजवाद नहीं रह गया है। बादल ने कहा कि लोकतंत्र भी देश में जमीन पर नहीं है वो भी सिर्फ चुनाव के लिए ही है। भारतीय जनता पार्टी के पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल नेता ने कहा कि वो दिल्ली के लोगों से अपील करेंगे कि सभी शान्ति बनाए रखने में सहयोग करें।

देश में ना सेक्युलेरिज्म बचा ना सोशलिज्म, लोकतंत्र भी चुनाव तक सीमित: प्रकाश सिंह बादल

शुक्रवार को प्रकाश सिंह बादल ने कहा, हमारे संविधान में तीन अहम चीजें हैं- सेक्युलरिज्म, सोशलिज्म और डेमोक्रेसी। यहां ना सेक्युलरिज्म है और ना ही सोशलिज्म बचा है। अमीर, अमीर होता जा रहा है, गरीब, गरीब होता जा रहा है। डेमोक्रेसी भी सिर्फ दो स्तर पर रह गई है लोकसभा चुनाव और स्टेट इलेक्शन। बाकी कुछ नहीं।

प्रकाश सिंह बादल से एक दिन पहले उनकी पार्टी के सांसद नरेश गुजराल दिल्ली हिंसा में पुलिस की भूमिका पर सवाल उठा चुके हैं। पूर्व पीएम आईके गुजराल के बेटे नरेश गुजराल ने हाल की हिंसा में दिल्ली पुलिस ने जिस तरह की निष्क्रियता दिखाई, वो करीब-करीब वैसी ही थी जैसी हमने 1984 में सिखों के खिलाफ हिंसा के दौरान देखी थी। तब भी पुलिस ने अपना काम ठीक से नहीं किया था और अब भी ऐसा ही हुआ है। गुजराल ने ये भी कहा है कि ये बताने के बावजूद कि मैं सांसद हूं पुलिस ने उनकी नहीं सुनी। वो हिंसा में फंसे लोगों की मदद के लिए पुलिस से कहते रहे लेकिन पुलिस ने उनकी नहीं सुनी।

बता दें कि दिल्ली हिंसा में 42 लोगों की जान जा चुकी है और संपत्तियों का भारी नुकसान हुआ है। पुलिस के मुताबिक, उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा जुड़े 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हिंसा के मामलों में अब तक 18 एफआईआर दर्ज की गई हैं। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मंदीप सिंह रंधावा ने जानकारी दी है कि बुधवार से कोई भी अप्रिय घटना नहीं हुई है। क्षेत्र में शान्ति बनी हुई है।

पढ़ें-अकाली दल सांसद गुजराल बोले- दिल्ली पुलिस का ऐसा ही रवैया हमने 1984 में देखा था

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Delhi Violence Shiromani Akali Dal Parkash Singh Badal secularism socialism democracy
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X