• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

प्रदूषण की समस्या सिर्फ AAP और दिल्ली सरकार की नहीं, बल्कि सब की है: गोपाल राय

|

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने दिल्ली में वाहन प्रदूषण को कम करने के उद्देश्य से 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान को आज सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में शुरू किया। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने इंडिया गेट के पास राजपथ क्रॉसिंग से अभियान की शुरूआत की। गोपाल राय ने कहा कि प्रदूषण की समस्या सिर्फ आम आदमी पार्टी और दिल्ली सरकार की नहीं, बल्कि सब की है, जो पार्टी और सरकार से उपर है। उन्होंने सरकारों के साथ-साथ सभी जन प्रतिनिधियों और दिल्ली के निवासियों से अपील करते हुए कहा कि यह सब की जिम्मेदारी है कि सभी प्रदूषण को कम करने में अपने हिस्से का योगदान दें। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक सिग्नल्स पर एक वाहन करीब 15 से 20 मिनट तक रूकता है, इस अभियान का उद्देश्य रेड लाइट पर खड़े वाहनों को बंद कर 15 से 20 प्रतिशत प्रदूषण को कम करना है। दिल्ली सरकार 2 नवंबर से दिल्ली के सभी 272 वार्डों में इस अभियान को शुरू करने जा रही है, ताकि अधिक से अधिक लोग इस अभियान में अपनी भागीदारी दे सकें।

 Delhi pollution is not only the Problem of the Aam Aadmi Party and the Delhi government, but of everyone: Gopal Rai
    Delhi Air Pollution दशहरा पर पटाखों से बढ़ी मुश्किलें Pollution का स्तर दोगुना | वनइंडिया हिंदी

    आने वाले दिनों में दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष और दिल्ली के अन्य कैबिनेट मंत्रियों के साथ-साथ सभी विधायक भी दिल्ली में प्रदूषण को कम करने के लिए अधिक से अधिक लोगों को इस अभियान में शामिल होकर रेड लाइट पर अपने वाहनों को बंद करके अपनी हिस्सेदारी निभाने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।

    दिल्ली पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आज सी हेक्सागन, राजपथ क्रॉसिंग पर 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान में हिस्सा लिया। इस दौरान गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के अंदर 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान आज से सभी 70 विधानसभाओं में शुरू हो रहा है। दिल्ली की अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों में सुबह 9 बजे से अभियान की शुरूआत की गई है और इस अभियान से बड़ी तादात में दिल्ली के लोग जुड़ रहे हैं और लोगों को जागरूक किया जा रहा है। पर्यावरण मंत्री ने कहा कि 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान 21 अक्टूबर से शुरू किया था और अब यह अभियान दिल्ली के सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में एक साथ शुरू हुआ है। उन्होंने कहा कि हम 2 नवंबर से इस अभियान को दिल्ली के 272 वार्डों में लेकर के जाएंगे। जिससे कि अधिक से अधिक लोग इस अभियान में हिस्सा ले सकें। दिल्ली सरकार का यह मानना है कि अगर प्रदूषण की समस्या दिल्ली के दो करोड़ लोगों की है, तो इसके समाधान के लिए सभी लोगों को आगे बढ़कर आना पड़ेगा और इसीलिए इस अभियान को आज से और तेज किया जा रहा है। इसके बाद 2 नवंबर से वार्ड स्तर पर इस अभियान को शुरू किया जाएगा।

    मीडिया के सवालों को जवाब देते हुए पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि प्रदूषण का पूरा आंकलन वैज्ञानिक कर रहे हैं, लेकिन अभी तक दुनिया और भारत के अंदर वैज्ञानिकों का जो अध्ययन रहा है, उसके मुताबिक रेड लाइट पर 15 से 20 मिनट तक गाड़ी खड़ी होती है, इससे काफी वाहन प्रदूषण पैदा होता है। ऐसे में दिल्ली के अंदर एक गाड़ी को औसतन 15 से 20 मिनट तक चैराहों पर गुजारना पड़ता हैं। अगर इस दौरान गाड़ी चालू रहती है, तो 15 से 20 फीसदी वाहन प्रदूषण बेवजह होता है। अगर गाड़ी बंद की जाए, तो हम 15 से 20 फीसदी वाहन प्रदूषण को नियंत्रित करने में सफल होंगे। दिल्ली सरकार से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक और ईपीसीए से लेकर सभी वैज्ञानिक, डीपीसीबी के लोग प्रदूषण पर निगरानी रख रहे हैं। हम इसे देख रहे हैं कि प्रदूषण को कम करने को लेकर भी आवश्यक कदम उठाने की जरूरत पड़ेगी, हम उस पर कार्रवाई करेंगे।

    'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान में बीजेपी के सांसदों और विधायकों की हिस्सेदारी पर मीडिया के सवालों का जवाब देनते हुए पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि मैंने सभी विधायकों को भी फोन करवाया था, लेकिन अभी तक कोई सकारात्मक जवाब नहीं आया है, लेकिन मुझे इस बात की उम्मीद है कि वो लोग अपने स्तर पर भी प्रदूषण कम करने को लेकर कार्य कर रहे होंगे। यह समस्या केवल आम आदमी पार्टी और दिल्ली सरकार की नहीं, बल्कि सब की है। इसलिए सभी लोग अपने अपने स्तर पर इसमें सहभागिता करते हैं, तो काफी हद तक सफलता मिलेगी। दिल्ली के जो प्रतिनिधि और दिल्ली के नागरिक हैं, सभी की जिम्मेदारी है कि वे अपने हिस्से का योगदान दें, जिससे प्रदूषण कम हो सके। उन्होंने कहा कि इस अभियान से सभी राजनीतिक दलों और उनके सांसदों, विधायकों को जुड़ना चाहिए, क्योंकि यह समस्या सब की है। इसी दिल्ली के अंदर उनकों भी सांस लेना है और इसीलिए सभी लोग अभियान से जुड़ रहे हैं। हम लोग सभी से अपील कर रहे हैं, क्योंकि यह समस्या सबकी है, जो पार्टी और सरकार से उपर है। बीजेपी विधायकों से बात हुई थी, लेकिन कहीं पर किसी ने भाग नहीं लिया है। उन्होंने कहा कि प्रदूषण को लेकर हम अपने वैज्ञानिकों के साथ लगातार हम बातचीत कर रहे हैं। आने वाले समय में जिस तरह के दिशा निर्देशों की जरूरत पड़ेगी, सरकार उसे लागू करेगी।

    उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में प्रदूषण को कम करने के उद्देश्य से 'युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध' अभियान की शुरूआत की है। इस अभियान के अंतर्गत कई गतिविधियां शुरू की गई है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 'रेड लाइट आॅन, गाड़ी आॅफ' अभियान की शुरूआत की है। इस अभियान के तहत चौराहों पर लाल बत्ती होने के दौरान खड़े वाहनों को बंद करने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। सरकार ने पूरे दिल्ली के करीब 100 चौराहों को चिंहित किया है, जहां पर पर्यावरण माॅर्शल लगाए गए हैं। यह पर्यावरण माॅर्शल वाहन चालकों को रेड लाइट पर खड़े रहने के दौरान अपने वाहन बंद रखने की अपील कर रहे हैं। साथ ही, पर्यावरण मंत्री गोपाल राय लगातार जमीन पर उतर कर अभियान को पूरी दिल्ली के निवासियों तक पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं। इससे पहले उन्होंने दिल्ली के सभी विधायकों और पार्षदों के साथ विभिन्न चौराहों पर लोगों को अभियान के प्रति जागरूक किया है। साथ ही, सीएम अरविंद केजरीवाल समेत सरकार के अन्य मंत्री दिल्ली के लोगों से इस अभियान से जुड़ कर वाहन प्रदूषण को कम करने के लिए लगातार अपील कर रहे हैं।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Delhi pollution is not only the Problem of the Aam Aadmi Party and the Delhi government, but of everyone: Gopal Rai
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X