खुले में करेंगे शौच तो स्‍वच्‍छ सेवक बजा देंगे सीटी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। पीएम मोदी के स्‍वच्‍छता अभियान का असर अब देश के कोने-कोने में दिखने लगा है। लेकिन राजधानी दिल्‍ली ने इस अभियान को एक अलग तरीके से लागू करने का प्‍लान बना लिया है। जी हां अब अगर कोई दिल्‍ली में खुले में पेशाब या शौच करता दिखेगा तो उसे शुभंकर (mascots) सीटी बजाकर टोकेंगे। दिल्‍ली नगर निगम ने ऐलान किया है कि 28 मैसकॉट्स को दिल्‍ली के लुटियन जोन के आसपास तैनात किया जायेगा।

दिल्ली में सड़क पर फेकेंगे कूड़ा तो लगेगा तगड़ा जुर्माना

Delhi mascots to blow the whistle on public defecation
  

इन शुभंकरों (mascots) को स्‍वच्‍छ सेवक कहा जाएगा और ये किसी को भी खुले में शौच करते या पेशाब करते देखेंगे तो सीटी बजाकर उसे टोकेंगे। उल्‍लेखनीय है कि पीएम नरेंद्र मोदी और कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने 2 अक्टूबर 2019 तक पूरे भारत को खुले में शौच जाने से मुक्त कराने की प्रतिबद्धता घोषणापत्र पर हस्ताक्षर किये। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार आधे से ज्‍यादा भारतीय ग्रामीण अभी भी खुले में शौच करते हैं। इससे रोजाना 65 हजार टन मल पर्यावरण को गंदा करता है।

DLF चेयरमैन की बेटी ने खरीदा इतना महंगा बंगला, सुनकर उड़ जाएंगे आपके होश 

देश में डायरिया से होने वाली मौतों में लगातार हो रही बढ़ोत्‍तरी के पीछे एक मात्र कारण है गांवों में खुले में शौच की आदत। डायरिया से मरने वालों में ज्‍यादातर 5 साल से कम उम्र के बच्‍चे शामिल हैं। आंकड़ों की मानें तो लगभग 188, 000 मौतें हर साल डायरिया के चलते होती है। वहीं खुले में शौच की आदत महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध को भी बढ़ावा देते हैं।

रेप के आरोपी ने कोर्ट में ही प्‍ले कर दिया नाबालिग पीडि़ता का VIDEO स्‍टेटमेंट

सम्‍मान बचाने के लिए महिलाओं को शौच के लिए या तो तड़के खेत की तरफ जाना होता है या फिर देर रात। बात अगर बिहार की करें तो यहां दो साल में करीब 400 बलात्‍कार के केस दर्ज किए गए। सभी घटनाएं शौच के लिए बाहर गईं महिलाओं के साथ हुआ। पुलिस की फाइल में दर्ज मुकदमों की मानें तो घटना देर रात में ज्‍यादा हुई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 को स्वच्छ भारत अभियान शुरु किया था। बीते सितंबर माह में पीएम मोदी ने ऐलान किया था कि स्‍वच्‍छ भारत अभियान के तहत अबतक देश में 2.5 करोड़ शौचालय बनाए जा चुके हैं। वहीं इस अभियान के तहत दिल्‍ली में 270 शौचालयों का निर्माण कराया गया है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
People who attempt to urinate or defecate in public in Delhi’s wealthier neighbourhoods may soon find themselves loudly interrupted.
Please Wait while comments are loading...