• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दिल्ली-NCR में गैस चैंबर: लगातार तीसरे दिन 'इमरजेंसी' जैसे हालात, एक्शन में EPCA

|

नई दिल्ली। इस वक्त पूरा उत्तर भारत हाड़ कंपाने वाली ठंड की चपेट में है, दिल्ली की हालत तो और भी ज्यादा खराब है क्योंकि यहां के लोग सर्द मौसम के अलावा प्रदूषण की मार भी सह रहे हैं, लगातार गिरते तापमान की वजह से यहां की हवा में प्रदूषण का स्तर काफी ज्यादा हो गया है जो कि किसी भी लिहाज से सेहत के लिए सही नहीं है इसलिए प्रदूषण की रोकथाम के लिए बनी कमिटी EPCA ने बुधवार तक दिल्ली-NCR में कंस्ट्रक्शन बैन कर दिया। वजीरपुर, मुंडका, साहिबाबाद, फरीदाबाद जैसे इलाकों में दो दिन इंडस्ट्री बंद रखने को भी कहा गया है।

दिल्ली और आसपास के इलाकों में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 400 के ऊपर

दिल्ली और आसपास के इलाकों में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 400 के ऊपर

शनिवार से दिल्ली और आसपास के इलाकों में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 400 के ऊपर और प्रदूषक तत्व इमरजेंसी लेवल के ऊपर बने हुए हैं।दिल्ली में एक्यूआई 37 जगहों में से 33 जगह सीवियर की श्रेणी में दर्ज किया गया। वहीं पीएम 10 का अधिकतम स्तर 780 और पीएम2.5 630 रहा। पूरे देश में सबसे खराब आबोहवा गाजियाबाद की दर्ज की गई है, यहां यह 478 रहा।

यह भी पढ़ें: ठंड से ठिठुरा उत्तर भारत, श्रीनगर में टूटा 11 साल का रिकॉर्ड, जमने लगी डल झील

इमरजेंसी जैसे हालात

इमरजेंसी जैसे हालात

सीपीसीबी के अनुसार सोमवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 448 रहा. सबसे खराब स्थिति नोएडा की रही, जिसका एयर इंडेक्स 464 था, इसके बाद गाजियाबाद 456 और ग्रेटर नोएडा 450 खराब स्थिति में रहा, प्रदूषण का स्तर फरीदाबाद तक बना हुआ है और वहां इंडेक्स 444 रहा, इमरजेंसी जैसे हालात को देखते हुए सीपीसीबी टास्क फोर्स की मीटिंग में ईपीसीए को कुछ सुझाव दिए गए, आने वाले दो दिनों तक इसमें सुधार की गुंजाइश नहीं है।

वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में

वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में

भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि कम हवा चलने और कम तापमान का दौर अगले तीन-चार दिन जारी रहेगा। इस वजह से प्रदूषकों का छितराव नहीं होगा और अगले दो-तीन दिन तक वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में बनी रह सकती है।

ये हैं दिल्ली के हॉट स्पॉट

ये हैं दिल्ली के हॉट स्पॉट

दिल्ली के हॉट स्पॉट में आनंद विहार, ओखला फेज 2, मुंडका, द्वारका सेक्टर-8, बवाना, आर के पुरम, रोहिणी, नरेला, जहांगीरपुरी, विवेक विहार, वजीरपुर और पंजाबी बाग शामिल हैं। इसके अलावा, टिकरी कलां से हजारों टन, नरेला बवाना से 36 हजार टन इंडस्ट्री वेस्ट हटाया गया है। नाहरपुर में 100 अवैध ऑटो वर्कशॉप को बंद किया गया है। प्रदूषण के लिहाज से चुने गए 12 हॉट स्पॉट पर अब सीधे चीफ सेक्रेट्री की नजरें रहेंगी। इसके लिए उन्होंने एक वॉट्सऐप ग्रुप बनाया है। इस ग्रुप में दिल्ली के बड़े अधिकारियों समेत फील्ड अफसर भी शामिल हैं। इस ग्रुप का मकसद प्रदूषण की समस्या को हल कराना है।

यह भी पढ़ें: Google Doodle: रोचक अंदाज में डूडल ने दी क्रिसमस की बधाई

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
As Delhi continues to choke with air quality slipping to severe in the last few days, the Central Pollution Control Board led task force on Monday recommended closure of all factories situated in the six industrial hotspots Mundka, Narela, Faridabad.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more