• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना वायरस: जनता कर्फ्यू के लिए 22 मार्च की तारीख को ही क्यों चुना गया?

|

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल यानी 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की है। इस मौके पर लोगों से सुबह 7 बजे से लेकर रात के 9 बजे तक अपने घरों में रहने को कहा गया है। गुरुवार शाम को देश के नाम संबोधन में पीएम ने ये आह्वान किया था। इसके बाद ये भी पूछा जा रहा है कि आखिर शुक्रवार को ही क्यों नहीं इसके लिए कहा गया, रविवार का दिन क्यों चुना गया। दो दिन तक क्यों इस वायरस को फैलने दिया जा रहा है। 22 तारीख चुनने की वजह पर विशेषज्ञों ने राय दी है।

ये बोले हैं विशेषज्ञ

ये बोले हैं विशेषज्ञ

ऑल इंडिया रेडियो न्यूज (आकाशवाणी समाचार) के ट्विटर हैंडल पर नीति आयोग के सदस्य बीके पॉल और रेलवे बोर्ड के पूर्व मुख्य चिकित्सा निदेशक द्वारका पांडेय की ओर से दिए जवाब में कहा गया है- पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा है कि कुछ हफ्तों के लिए इसे आदत बना लीजिए। उन्होंने दो हफ्तों का समय मांगा है, इस दौरान बहुत जरूरी होने पर ही घर से निकलें। हकीकत ये है कि हम इसे आदत में ला नहीं पाए हैं। ऐसे में रविवार का दिन चुना गया है। रविवार को अधिकांश प्रतिष्ठान बंद रहते हैं। ऐसे में रविवार को अगर हम संयम रख सकते हैं तो आगे भी एक होकर इस वायरस से लड़ सकते हैं।

पीएम ने किया है जनता कर्फ्यू का ऐलान

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की है। कल यानी रविवार को 'जनता कर्फ्यू' रहेगा। इस मौके पर लोगों से सुबह 7 बजे से लेकर रात के 9 बजे तक अपने घरों में रहने को कहा गया है। जिनका घर से निकना बेहद आवश्यक है या मजबूरी है, सिर्फ वहीं लोग घर से बाहर जाएं। पीएम ने ये भी कहा है कि शाम में 5 बजे सभी लोग अपने घरों के दरवाज़े बालकनी या छत से ताली या थाली बजाकर उन लोगों का अभिवादन करेंगे, जो कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को बचाने के लिए अपनी सेवा दे रहे हैं।

हाथ पर होम क्वारंटाइन की मुहर के साथ सफर कर रहा था दिल्ली का कपल, लोगों ने ट्रेन से उतारा

शनिवार से 111 लैब शुरू की गईं

शनिवार से 111 लैब शुरू की गईं

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोरोना के मरीजों की संख्या शनिवार को 283 पर पहुंच गई है। चार लोगों की अब तक इस वायरस से मौत हो चुकी है। मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि कोरोना की जांच के लिए देश के अलग-अलग हिस्सों में 111 लैब शनिवार से शुरू कर दी गई हैं। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के 25 मामले सामने आए हैं। सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं जहां, कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 52 हो गई है। जबकि यूपी में भी कोरोना वायरस संक्रमण के 23 केस सामने आए हैं।

कोरोना वायरस: सोनिया गांधी ने कहा- देश चिंता में, मोदी सरकार से की ये मांग

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Coronavirus why narendra modi select 22 march date for janta curfew
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X