• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

केंद्र सरकार को सस्ती और राज्यों को महंगी क्यों मिल रही है कोरोना वैक्सीन?मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया

|

नई दिल्ली, 10 मई: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने देश की कोरोना वैक्सीनेशन पॉलिसी को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक हलफानाम दायर किया है। रविवार (10 मई) की शाम को सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने लगभग 200 पजों का हलफानाम दायर किया है, जिसमें सरकार ने देश की कोरोना स्थिति से लेकर वैक्सीनेशन पॉलिसी पर अपना पक्ष रखा है। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि बताया, केंद्र सरकार द्वारा अपनाई गई कोविड-19 वैक्सीन के लिए नई उदारीकृत मूल्य नीति (लिबरल प्राइसिंग पॉलिसी) वैक्सीन कवरेज को बढ़ाने के लिए, वैक्सीन निर्माता कंपनियों को प्रोडक्शन तेजी से बढ़ाने के लिए और नए वैक्सीन निर्माताओं को आकर्षित करने के लिए है। केंद्र सरकार ने कहा कि उनकी वैक्सीन पॉलिसी सभी को समान रूप से टीका वितरित करने की है।

    Corona Vaccine: Vaccination Policy पर SC में Modi Govt. ने कहा- हम पर भरोसा कीजिए | वनइंडिया हिंदी

    Coronavirus vaccine

    केंद्र सरकार को सस्ती और राज्यों को महंगी क्यों मिल रही है कोरोना वैक्सीन? इस सवाल का जवाब देते हुए केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को कहा कि 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीनेट करने की अनुमति राज्यों के अनुरोध पर ही दी गई है। केंद्र ने वैक्सीन निर्माता कंपनियों को एक समान रूप पर सभी राज्यों को वैक्सीन आपूर्ति के लिए राजी किया है। ऐसा नहीं है कि एक राज्य को अधिक और किसी अन्य राज्य को कम कीमत पर वैक्सीन मिल रही है।

    केंद्र सरकार ने कहा, हमें वैक्सीन थोड़ी सी सस्ती इसलिए मिल रही है क्योंकि हमने वैक्सीन निर्माता कंपनियों को ज्यादा ऑर्डर दिए हैं और पेशगी रकम भी कंपनी को दी है।

    केंद्र सरकार ने ये भी कहा है कि राज्यों को जो वैक्सीन कोटा अलॉट होगा, उसमें से 50 फीसदी वैक्सीन निजी कंपनी या निजी अस्पताल को देने होंगे। जो लोग वैक्सीन की कीमत चुका सकते हैं, वो प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन लेंगे। इससे राज्य सरकार पर बोझ कम पड़ेगा।

    ये भी पढ़ें- ऑक्सीजन, दवा सप्लाई से लेकर कोरोना से निपटने की तैयारियों पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाईये भी पढ़ें- ऑक्सीजन, दवा सप्लाई से लेकर कोरोना से निपटने की तैयारियों पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई

    केंद्र ने कहा है कि वैक्सीन निर्माता कंपनियों ने वैक्सीन बनाने में काफी पैसा निवेश किया है, जो एक तरह का रिस्क है, इसलिए इस बात का ध्यान कीमत तय करने में रखा गया है। केंद्र ने कहा है कि आम लोगों तो वैक्सीन फ्री में ही मिल रही है, क्योंकि लगभग सारे राज्यों ने वैक्सीन मुफ्त में देने का ऐलान किया है। केंद्र 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए राज्यों को वैक्सीन आपूर्ति करती रहेगी।

    English summary
    Centre to Supreme Court says Coronavirus vaccine Differential pricing to increase production attract foreign
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X