• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

विदेश में फंसे भारतीयों को 7 मई से वापस लाएगी सरकार

|

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते अलग-अलग देशों में जो भारतीय नागरिक फंसे हैं, उन्हें स्वदेश लाने के लिए सरकार तैयारी कर रही है। सरकार की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। सरकार की ओर से कहा गया है कि सरकार विदेश से लोगों को चरणबद्ध तरीके से वापस लाएगी। लोगों को विमान और शिप के जरिए लाया जाएगा। इस दौरान स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा, जिसकी योजना तैयार कर ली गई है। सरकार की ओर से कहा गया है कि सभी भारतीय दूतावास और हाई कमिशन को इसके लिए सूचना दी गई है।

dgca

सभी भारतीय दूतावास और हाई कमिश्नर को विदेश में फंसे भारतीय नागरिकों की लिस्ट तैयार करने के लिए कहा गया है। इस सुविधा का खर्च लोगों को वहन करना पड़ेगा। नॉन शेड्यूल कॉमर्शियल विमान कों को इसके लिए तैयारी करने को कहा गया है। लोगो को वापस लाने का काम 7 मई से शुरू किया जाएगा। बता दें कि नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने 17 मई तक के लिए सभी विमानों के संचालन पर रोक लगा दी है। लेकिन विदेश में फंसे लोगों को लाने के लिए एक सर्कुलर जारी किया गया है।

बता दें कि देशभर में फंसे प्रवासी मजदूरों को सरकार ने वापस लाने की अनुमति दे दी है। इस बाबत विशेष रेलों का संचालन किया जा रहा है। मजदूरों को विशेष ट्रेन और बस से वापस उनके गांव भेजा जा रहा है। रविवार को केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों के मुख्य सचिव को लिखे पत्र में कहा था कि ये ट्रेन उन्हीं लोगों के लिए है, जो दूसरे राज्यों में फंसे हैं और उनका रोजगार छिन गया है, जैसे दिहाड़ी मजदूर। इस ट्रेन से उन्हें यात्रा करने की इजाजत बिल्कुल भी नहीं दी जाए जो दूसरे राज्यों में अभी भी नौकरी कर रहे हैं या किसी काम से कहीं जाना चाहते हैं।

इसे भी पढ़ें- दिल्ली हिंसा के दौरान घायल हुए डीसीपी अमित शर्मा ड्यूटी पर लौटे, तालियों से हुआ स्वागत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Central government to bring back indian nationals stranded abroad from 7 may.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X