• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

1971 युद्ध के हीरो ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी महावीर च्रक से सम्मानित

|

नई दिल्ली। 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्द के असली हीरो ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी को महावीर चक्र से सम्मानित किया गया। लोंगेवाला की ऐतिहासिक लड़ाई के नायक ब्रिगेडियर की शनिवार को मोहाली के फॉर्टिस अस्पताल में निधन हो गया। महावीर चक्र विजेता ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी लंबे वक्त से कैंसर से जूझ रहे थे, जिसके बाद शविवार को उन्होंने अंतिम सांस ली।

 Brigadier Kuldip Singh Chandpuri was awarded the Maha Vir Chakra for his leadership in the Battle of Longewala during the Indo-Pakistani War of 1971

78 साल से ब्रिगेडियर ने 2000 पाकिस्तानी सैनिकों से मात्र 90 सेना के जवानों के बल न केवल टक्कर ली बल्कि उन्हें घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया। राजस्थान के थार मरुस्थल में लोंगेवाल की भारतीय सीमा चौकी पर तैनात 23वीं बटालियन में मेजर की कमान संभाल रहे महज 90 सैनिकों के बल पर पाकिस्तान की 2000 से अधिक सैनिकों को बॉर्डर पर ही रोक दिया और उन्हें वापस लौटने पर मजबूर कर दिया। बहादुर जवानों से लैस कुलदीप चांदपुरी ने सैनिकों और अपने पास मौजूदा हथियारों और संसाधनों को अच्छा इस्तेमाल किया और उनके छक्के छुड़ा दिए। उनके अदम्य साहस के लिए उन्हें देश के दूसरे सर्वोच्च मिलिट्री पुरस्कार महावीर चक्र से सम्मानित किया गया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Brigadier Kuldip Singh Chandpuri was awarded the Maha Vir Chakra for his leadership in the Battle of Longewala during the Indo-Pakistani War of 1971
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X