मोदी-शाह ने सांसदों को दिया 'टिफिन मंत्र', 2019 में कांग्रेस को चित करने की तैयारी

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। राजस्थान उप चुनाव में मिली हार के बाद बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2019 को जीतने के लिए नया प्लान बनाया है। अपने नए प्लान के तहत बीजेपी ने पूरे देश में काम करना भी शुरू कर दिया है। बीजेपी के संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी चीफ अमित शाह ने सांसदों को टिफिन मीटिंग करने का टास्क दिया है ताकि अधिक से अधिक लोगों को पार्टी से जोड़ा जा सके। नए 'मोदी मंत्र' के तहत सांसदों को अपने क्षेत्र में 'टिफिन बैठक' करना होगा।

पार्टी नेता हर बूथ में अपने घर से खाने का टिफिन लेकर जाते हैं

पार्टी नेता हर बूथ में अपने घर से खाने का टिफिन लेकर जाते हैं

बीजेपी ने इस टिफिन मिटिंग का आइडिया आरएसएस से लिया है। जिसके तहत पार्टी नेता हर बूथ में अपने घर से खाने का टिफिन लेकर जाते हैं और वहां पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत करते हैं। वहां सभी लोग एक साथ भोजन करते है। इस टिफिन बैठक के दौरान कार्यकर्ताओं और जनता को पार्टी की नीतियों से रुबरू कराया जाता है। इस प्लान को बीजेपी ने सबसे पहले गुजरात में आजमाया था। इसके जरिए पार्टी ने बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत किया था।

 सांसद अपने-अपने संसदीय क्षेत्र के बूथ क्षेत्र में जाएंगे

सांसद अपने-अपने संसदीय क्षेत्र के बूथ क्षेत्र में जाएंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब यूपी विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान वाराणसी गए थे तो उन्होंने नेताओं के साथ बैठकर सबसे सामने खाना खाया था। इस दौरान तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष केशव मौर्या भी उन्हीं की टेबल पर खाना खाने वालों में शामिल थे। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह भी दलित और ओबीसी कार्यकर्ताओं के घर खाना खाने जाते रहते हैं। इसी तर्ज पर अब पार्टी आलाकमान ने सांसदों को टिफिन प्लान का आइडिया दिया है। इसके तहत पार्टी के सभी सांसद अपने-अपने संसदीय क्षेत्र के बूथ क्षेत्र में जाएंगे और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर उनकी नाराजगी दूर करेंगे।

आम बजट की बातों को प्रचारित किया जाए

आम बजट की बातों को प्रचारित किया जाए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरुण जेटली के बजट भाषण की बुकलेट को लेकर सांसद अपने क्षेत्र में मोदी सरकार की नीतियों का प्रचार-प्रसार करेंगे। इसके जरिए जनता को पता चल सके कि मोदी सरकार ने उनके लिए क्या-क्या कदम उठाए हैं? सरकार ने आखिरी बजट में ग्रामीण और किसानों को खास तव्वजो दी है। इस बार के बजट घोषणाओं को जनता के बीच ले जाने का जिम्मा पार्टी सांसदों को दिया गया है। मोदी सरकार ने बजट को किसान-ग्रामीण के साथ-साथ न्यू इंडिया की परिकल्पना के साथ पेश किया है। ऐसे में पार्टी सांसदों को बजट में रखी गई बात को जनता के बीच ले जाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पीएम ने सांसदों से साफ-साफ कहा है कि यह बजट किसानों और मध्यम वर्ग का बजट है।

जींद में अमित शाह की रैली के खिलाफ एनजीटी में याचिका दायर, 12 फरवरी तक मांगा जवाब

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
bjp plans tiffin meeting for mission 2019

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.