असम में बाढ़: मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 52, काजीरंगा पार्क से भाग रहे जानवर

Subscribe to Oneindia Hindi

गुवाहाटी। असम में बाढ़ की स्थिति अभी भी गंभीर है। बाढ़ के चलते शुक्रवार को तीन मौतें हुईं और राज्य के 25 जिलों में लगभग 15 लाख लोग अभी भी बाढ़ से प्रभावित हैं। इसके साथ ही जो काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में भी आधे से भी अधिक पानी में इलाके भरा हुआ है।

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, धेमाजी, धुबरी और नागाँव जिले में बाढ़ से तीन व्यक्तियों की मौत हो गई है। इसके साथ ही, इस साल बाढ़ में अपनी जान गंवाने वाले लोगों की कुल संख्या 52 हो गई है, जिसमें गुवाहाटी के आठ लोग शामिल हैं।

असम में बाढ़: मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 52, काजीरंग पार्क से भाग रहे जानवर

करीब 15 लाख लोग प्रभावित

एएसडीएमए ने बताया कि वर्तमान में धरमजी, लखिमपुर, विश्वनाथ, सोनितपुर, दारंग, नलबारी, बारपेटा, बोंगईगांव, चिरांग, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण सल्मार, गोलपाड़ा, मोरीगांव और नागाओं सहित 14.97 लाख लोगों की बाढ़ से प्रभावित हुए हैं।  

काजीरंगा नेशनल पार्क में, क्षेत्र का 62 प्रतिशत पानी में है, कुछ जानवरों की मृत्यु हो गई है और कुछ आसपास के पहाड़ी इलाकों में चले गए।

सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र दक्षिण सलमारा है, जहां बाढ़ से 3.07 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं, इसके बाद मोरीगांव जहां 2.23 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं।

कई जिलों में गोलपाड़ा, दक्षिण सल्मार, डिब्रूगढ़, लखीमपुर, शिवसागर, मजुली, बारपेटा, गोलघाट, जोरहाट, नागाँव, कोकराझार और उदलगुड़ी सहित कई जिलों में बाढ़ से कई सड़कों, तटबंध और पुलों को क्षतिग्रस्त हुए हैं।

ब्रह्मपुत्र नदी का पानी पांच स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा था जिसमें गुवाहाटी, जोरहट में निमाटीघाट, सोनितपुर में तेजपुर, गोलपारा और धुबरी शामिल है।

शिवसागर में देसांग नागलामुरागट, गोलघाट के नुमालीगढ़ में धनसिरी और करीमगंज शहर में कुशीरा जैसी अन्य नदियों खतरे के निशान से ऊपर बह रही थीं।

देखते देखते बाढ़ में बह गई कार |Car swept in heavy flow of river in Champawat | वनइंडिया हिंदी

ये भी पढ़ें: फ़ेसबुक के इस्तेमाल में भारत 'नंबर वन'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Assam flood: Death toll rises,
Please Wait while comments are loading...