भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
  • search

Gujarat Elections 2017: कांग्रेस की इस तरह मदद कर बीजेपी को झटका देगी AAP

By VikashRaj Tiwari
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    नई दिल्ली। गुजरात का संकल्प, आप ही खरा विकल्प' और 'एक मौका आप को फिर देखो गुजरात को' के नारे के साथ गुजरात विधानसभा में उतरने जा रही आम आदमी पार्टी ने चुनावों से पहले अपने प्लान में कुछ बदलाव किया है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक आम आदमा पार्टी गुजरात विधानसभा चुनाव जीतने के लिए नहीं बल्कि बीजेपी को हराने के लिए लड़ेगी जिसका सीधा फायदा कांग्रेस को मिलेगा मतलब साफ है कि आम आदमी पार्टी का इरादा हर हाल में बीजेपी की मिट्टी पलीत करने का है।

     क्या AAP कांग्रेस को फायदा पहुंचाना चाहती है?

    क्या AAP कांग्रेस को फायदा पहुंचाना चाहती है?

    आम आदमी पार्टी के गुजरात प्रभारी गोपाल राय का वैसे तो कहना है कि पार्टी राज्य में वोट काटने के लिए नहीं बल्कि बदलाव के लिए चुनाव लड़ेगी लेकिन साथ ही वे कहते हैं कि जहां पार्टी के मजबूत उम्मीदवार नहीं होंगे वहां बीजेपी के खिलाफ सबसे सशक्त उम्मीदवार को जिताने के लिए जोर लगाया जाएगा। गोपाल राय ने ये भी साफ किया है कि कांग्रेस के स्वच्छ छवि वाले चेहरों को समर्थन देने से भी आम आदमी पार्टी परहेज नहीं करेगी।

      BJP is the richest political party in India, Congress stands 2nd | वनइंडिया हिंदी
      बीजेपी के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार को समर्थन

      बीजेपी के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार को समर्थन

      गोपाल राय ने कहा है कि वह गुजरात में बीजेपी के खिलाफ पड़ने वाले वोटों को काटने के लिए नहीं बल्कि बीजेपी को हराने के लिए चुनावी समर में उतरेंगे। गोपाल राय का कहना है कि जिन सीटों पर आम आदमी पार्टी की स्थिति बेहतर नहीं है और जहां पर उसे बूथ स्तर तक संगठन हासिल नहीं है वहां पर वह अपने उम्मीदवार उतार कर बीजेपी के खिलाफ पडने वाले वोटों का बंटवारा नहीं करना चाहती है। ऐसी सीटों पर AAP बीजेपी के खिलाफ जो भी मजबूत उम्मीदवार होगा उसका समर्थन और मदद करेगी। चाहे वो उम्मीदवार निर्दलीय हों या फिर किसी और पार्टी का हो।

      गुजरात चुनाव लड़ना AAP की मजबूरी

      गुजरात चुनाव लड़ना AAP की मजबूरी

      आम आदमी पार्टी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक गुजरात विधानसभा चुनाव लड़ना पार्टी की मजबूरी भी है क्योंकि बिना चुनाव लड़े राज्य में संगठन का फैलाव होना मुश्किल है और चुनाव न लड़ने से पिछले 3 सालों में बनाए गए संगठन को नुकसान हो सकता है। इसलिए आम आदमी पार्टी गुजरात में एक तीर से दो निशाना साधने की कोशिश कर रही है। पहली कोशिश है कि चुनाव लड़ कर दूसरे राज्यों में उसका विस्तार बड़े और संगठन मजबूत हो साथ ही दूसरी कोशिश यह भी है कि बीजेपी के खिलाफ वोटों का बंटवारा करने की बजाए जीत की संभावना वाले दूसरे उम्मीदवारों की मदद की जाए। खबर ये भी है कि गुजरात चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी किसी पा्र्टी के साथ गठबंधन नहीं करेगी और दिवाली के बाद पार्टी अपने उम्मीदवारों के नामों का एलान करेगी।

      किसने बनवाया, इससे मतलब नहीं, भारतीय मजदूरों के खून-पसीने से बना है ताजमहल: सीएम योगी

      जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

      देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
      English summary
      Gujarat Elections 2017 - The Aam Admi Party will fight not to win the Gujarat assembly elections but to defeat the BJP, which will be directly benefited by the Congress. It is clear that the intention of the Aam Aadmi Party is to overthrow the soil of BJP in every situation.

      Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
      पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

      X
      We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more