• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने खुद बताया- क्‍यों छोड़ी कांग्रेस पार्टी, गिनाई ये 3 वजहें

|

नई दिल्‍ली। पिछले 18 सालों से कांग्रेस पार्टी का दामन थामने वाले मध्‍य प्रदेश राजघराने के राजकुमार ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया अब भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थाम चुके हैं। मंगलवार 10 मार्च को उन्‍होंने पार्टी से इस्‍तीफा दिया और बुधवार 11 मार्च को वह बीजेपी मे शामिल हो गए। इसके साथ ही उन्‍होंने खुद उन तीन वजहों का खुलासा किया जिसके तहत उन्‍हें पार्टी को अलविदा कहना पड़ा।

यह भी पढ़े-सिंधिया ने कभी भाजपा को बताया था लोकतंत्र की हत्या करने वाली पार्टी

'वास्‍तविकता से दूर है पार्टी'

'वास्‍तविकता से दूर है पार्टी'

ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने पार्टी छोड़ने की जो तीन वजहें गिनाई वे हैं-

  1. 1-पार्टी का वास्‍तविकता से दूर होना।
  2. 2-जड़ता का माहौल होना।
  3. 3-पार्टी में युवा नेतृत्‍व और युवा सोच को आगे बढ़ने के अवसर न मिलना।

सिंधिया ने कहा कि कंग्रेस पार्टी वास्‍तविकता का समावेश नहीं करना चाहती है। सिंधिया ने पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि आज पार्टी इस वास्‍तविकता को नजरअंदाज कर रही है कि पार्टी में आज जड़ता का माहौल है और कई लोगो को नेतृत्‍व का मौका ही नहीं दिया जा रहा है। पूरे देश में यही स्थिति है लेकिन मध्‍य प्रदेश में जो सपने हमने साथ में मिलकर देखे थे वो सभी बिखर चुके हैं।

'जनसेवा की भावना को पूरा नहीं कर पा रहा'

'जनसेवा की भावना को पूरा नहीं कर पा रहा'

सिंधिया ने सदस्‍यता ग्रहण करने के बाद मीडिया को बताया कि वह जिस जनसेवा की भावना को लेकर राजनीति में आए और कांग्रेस पार्टी से जुड़े थे वह अब पूरी नहीं हो पा रही थी। सिंधिया के शब्‍दों में कांग्रेस पार्टी अब वह पार्टी नहीं रह गई है जो कभी हुआ करती थी। उन्‍होंने यह भी कहा कि उनके पिता ने देश और राज्‍य की पूरी सेवा करने की पूरी कोशिश। लेकिन आज जिस तरह के हालात बना दिए गए हैं, उनकी वजह से देश सेवा का लक्ष्‍य जो उन्‍होंने तय किया था, उसमें वह पूरी तरह से असमर्थ साबित हो रहे थे। कभी बीजेपी पर हमलावर रहने वाले सिंधिया बुधवार को कांग्रेस पार्टी के खिलाफ आक्रामक तेवर अपनाए हुए थे।

18 माह बाद भी किसानों के कर्ज माफ नहीं

18 माह बाद भी किसानों के कर्ज माफ नहीं

सिंधिया ने कहा कि किसानों का कर्ज 10 दिन में माफ करने का वादा किया गया था। 18 माह बाद भी यह वादा पूरा नहीं हो सका है। साथ ही इस दौरान मध्‍य प्रदेश में रोजगार के अवसर पैदा करने की कोशिशें भी नहीं की गई हैं। उन्‍होंने यह भी बताया कि कैसे आज मध्‍य प्रदेश में रेत माफिया और ट्रांसफर रैकेट काम करने में लगे हुए है। इन वजहों से उन्‍हें देश की तरक्‍की के लिए पार्टी को छोड़ने का फैसला लेना पड़ा।

पीएम मोदी की तारीफ

पीएम मोदी की तारीफ

सिंधिया ने कहा कि देश की जनता ने बीजेपी को बड़ा जनादेश दिया, एक बार नहीं बल्कि दो बार। सिंधिया ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी प्रशंसा की। उन्‍होंने कहा कि पीएम मोदी के पास देश के फायदे के लिए काम करने की असीम क्षमता है। जिस तरह से वह काम करत रहे है और कुछ सेक्‍टर्स में उन्‍होंने सुधार किया है, वह वाकई तारीफ के काबिल है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Former Congress leader Jyotiraditya Scindia summurised in three points that why he had to leave his paarty.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X