टिकट आवंटन को लेकर भाजपा में घमासान, पूर्व मंत्री के समर्थकों ने काटा बवाल

Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। भाजपा में टिकट आवंटन को लेकर मचे घमासान के बीच पार्टी आलाकमान के फैसले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू हो गये हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के गुजरात चले जाने से अब भाजपा संसदीय बोर्ड की दोबारा बैठक होने की संभावना लगभग खत्म हो गई। इससे अब तय है कि भाजपा चुनाव समिति ने जो नाम तय किये हैं, उनमें कोई बड़ा फेरबदल हो।

कई स्थापित नेताओं के कटे टिकट

कई स्थापित नेताओं के कटे टिकट

हलांकि प्रदेश की राजनिति पूरी तरह दिल्ली शिफ्ट हो चुकी है लेकिन प्रदेश में भाजपा के संभावित प्रत्याशियों के नाम जाहिर होते ही विरोध प्रदर्शन शुरू हो गये हैं। कई स्थानों पर भाजपा विरोधी प्रदर्शन अपने ही लोग कर रहे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, भाजपा ने पीएम मोदी की ओर से प्रदेश में दस महिलाओं को टिकट देने की पैरवी करने की वजह से लिस्ट ऑन होल्ड हो गई है। दस महिलाओं के टिकट तय होते ही कई स्थापित नेताओं के पत्ते कट गये हैं। अब प्रत्याशियों की घोषणा संगठन महामंत्री राम लाल से मंत्रणा के बाद होगी जिससे कई टिकट चाहने वालों का धैर्य जवाब दे गया है। उन्हें लगता है कि अब उनकी सुनवाई नहीं होगी।

किशन कपूर के समर्थकों ने किया हंगामा

किशन कपूर के समर्थकों ने किया हंगामा

यही वजह है कि आज धर्मशाला में पूर्व मंत्री किशन कपूर के समर्थकों ने पार्टी आलाकमान के फैसले के खिलाफ जमकर बवाल काटा। किशन कपूर का इस बार टिकट कट रहा है व उनकी जगह उमेश दत्त भाजपा के धर्मशाला से प्रत्याशी होंगे। बीती रात भी इस फैसले के खिलाफ धर्मशाला में विरोध प्रदर्शन हुआ। सोमवार को खुद किशन कपूर अपने समर्थकों के साथ सड़कों पर उतर आये। बड़ी तादाद में कार्यकर्ताओं ने कपूर के समर्थन में नारेबाजी की और कहा कि संगठन किसी भी सूरत में पैराशूटी उम्मीदवार को स्वीकार नहीं करेगा। यही नहीं उन्होंने चेतावनी दी कि अगर ऐसा हुआ तो संगठन पैराशूटी उम्मीदवार को जिता कर दिखाए। कपूर समर्थकों के निशाने पर नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल हैं। उनका आरोप है कि धूमल पुरानी रंजिश निकालने के लिये कपूर का पत्ता कटवा रहे हैं।

पार्टी की अंतिम सूची का इंतजार

पार्टी की अंतिम सूची का इंतजार

धर्मशाला में इस शक्ति प्रदर्शन के बीच किशन कपूर ने कहा है कि अभी किसी की टिकट फाइनल नहीं हुई है। पार्टी की अंतिम सूची का इंतजार है। उन्होंने इस शक्ति प्रदर्शन को पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक बताया। यही नहीं मंडी में अनिल शर्मा को प्रत्याशी बनाने को लेकर विरोध हो रहा है। वहीं बंजार में खीमी राम का टिकट कटने पर भी बवाल हो रहा है। पालमपुर में भी इंदु गोस्वामी को लोग पचा नहीं पा रहे।

Read Also: हिमाचल प्रदेश: बीजेपी ने अपने प्रत्याशी कर लिए हैं तय, बस घोषणा बाकी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Tussle in BJP for tickets in Himachal Pradesh Election.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.