• search
दुर्ग न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Mahadev ID के चक्कर में फंसे दुर्ग के कारोबारी और उद्योगपति, एसपी ने आरक्षक को किया निलंबित

Google Oneindia News

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में ऑनलाइन सट्टा ऑपरेट करने वालों पर अब बड़ी कार्रवाई की जा रही है। इस मामले में संलिप्त एक आरक्षक को भी दुर्ग एसपी ने निलम्बित कर दिया है। इसके अलावा दुबई से संचालित हो रहे बड़े ऑनलाइन सट्टा गिरोह के दो बड़े बुकी को पकड़ने में पुलिस ने सफलता हासिल की है। वहीं दो अन्य ऑपरेटर मौके से फरार हो गए हैं। इस कार्रवाई के साथ ही पुलिस ने हाउसिंग बोर्ड क्षेत्र के रहने वाले धर्मेंद्र उर्फ डीके को भी पकड़ा हैं।

पुलिस ने बरामद किए लैपटॉप और मोबाइल

पुलिस ने बरामद किए लैपटॉप और मोबाइल

पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के पास से बड़ी संख्या में लैपटॉप, एटीएम, बैंक पासबुक, मोबाइल में महादेव सट्टा ऐप और नगदी जब्त किया है। फरार दो आरोपी नियाज और वकील की तलाश में पुलिस लगी है। नियाज और वकील जुआ का काम करते थे। ये काफी समय से महादेव एप चला रहे हैं। कुछ दिन पहले ही रायपुर इन्हें गिरफ्तार करके ले गई थी।

महादेव बुक के दो ऑपरेटर गिरफ्तार

महादेव बुक के दो ऑपरेटर गिरफ्तार

छावनी सीएसपी आईपीएस प्रभात कुमार की टीम को जानकारी मिली कि पावर हाउस के शीतला मंदिर के पास रहने वाले सोनी, एक ऑटो चालक नियाज और एक वकील मिलकर चला रहे हैं। मौके पर घेराबन्दी कर पुलिस सोनी और उसके साथी को तो गिरफ्तार कर लिया, लेकिन मुख्य आरोपी नियाज और वकील भागने में कामयाब हो गए। दुर्ग पुलिस ऑनलाइन सट्टा, महादेव बुक के संचालको की सूचना मिलने पर रविवार शाम शीतला कॉम्पलेक्स में दबिश दी। यहां महादेव ऐप की ब्रांच संचालित हो रही थी।

आरक्षक को एसपी ने किया निलंबित

आरक्षक को एसपी ने किया निलंबित

महादेव एप के मामले की जांच दुर्ग सीएसपी वैभव वैंकर और छावनी सीएसपी प्रभात कुमार को सौंपी गई है। दुर्ग एसपी ने सहदेव को सस्पेंड कर दिया है। दुर्ग जिले कुम्हारी में पदस्थ आरक्षक सहदेव, भीम और अर्जुन का नाम था। ये तीनों भाई थे। इनके कॉल डिटेल और सीडीआर खंगालने पर सहदेव इन मामलों में संलिप्त पाया गया। पुलिस ने आरक्षक को विभागीय गोपनीयता भंग करने और अवैधानिक कार्यों में संलिप्त होने पर निलंबित कर दिया है। उनके खिलाफ़ जांच जारी है। वह लगातार कई महीनों से ड्यूटी से गायब था। साथ ही वह लगातार महादेव ऐप से जुड़े लोगों से बात करता रहा।

कई आरक्षकों को एसपी ने किया था लाइन हाजिर

कई आरक्षकों को एसपी ने किया था लाइन हाजिर

दरअसल दुर्ग में मार्च में ही महादेव आईडी के बड़े रैकेट का खुलासा हुआ था। इसमें बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों के शामिल होने की बात सामने आई थी। इस पर तत्कालीन एसपी बीएन मीणा ने लगभग 15 आरक्षकों को लाइन अटैच किया था। लेकिन इस एक्शन के बाद सारे आरक्षकों की फिर से पदस्थापना की गई, उनके खिलाफ लगे आरोपों की जांच की जा रही थी।

बड़े कारोबारियों और उघोगपतियों के शामिल होने की सूचना

बड़े कारोबारियों और उघोगपतियों के शामिल होने की सूचना

दुर्ग एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि महादेव एप के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। दो लोग फरार हो गए हैं। पुलिस उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी। पकड़े गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। इसमें कई बड़े कारोबारियों के संलिप्त होने की जानकारी पुलिस को मिली है। जिससे सभी लोगों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जा सके। जल्द ही उन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें,, Durg News: शादी के बाद छुपकर मिलते थे दोनों, युवती ने अफरोज को पहुंचाया था जेल, अब होटल में मिला शव

Comments
English summary
Durg businessman and industrialist trapped in Mahadev ID, SP suspends constable
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X