इस उद्योगपति के घर पड़ी रेड, मिला 8 करोड़ कैश 43 किलो सोना

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। ऑटोस्पेयर पार्ट्स बनाने वाली प्रमुख कंपनी जय भारत मारुति (जेबीएम) ग्रुप के दिल्ली-एनसीआर स्थित 50 परिसरों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की। अभी तक आईटी को 8 करोड़ रुपए का कैश और लॉकर से 43 किलो सोना बरामद हुआ है। जेबीएम समूह के खिलाफ छापे की कार्रवाई आयकर अधिकारियों ने गुरुवार से शुरू की थी। आईटी ने जेएमबी ग्रुप के दिल्ली, गुड़गांव, फरीदाबाद और गाजियाबाद स्थित विभिन्न ऑफिसों और संपत्तियों पर छापे मारे। आपको बता दें कि कल शौचालय से आईटी विभाग को बड़ी रकम मिली थी।

money

उल्लेखनीय है कि जय भारत मारुति का सालाना टर्नओवर 120 करोड़ डॉलर (7,860 करोड़ रुपए) का है। सुरेंद्र कुमार आर्य इस समूह के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर (सीएमडी) हैं। यह समूह मारुति सुजुकी, अशोक लीलैंड, बजाज ऑटो, फिएट, फोर्ड, जनरल मोटर्स कॉर्पोरेशन, होंडा, हीरो, जेसीबी, महिंद्रा, रैनो, निसान, टाटा, टोयोटा, वोल्वो-आयशर, फॉक्सवैगन जैसी कंपनियों को गाड़ियों के लिए स्पेयर पार्ट्स सप्लाई करता है

कंपनी की वेबसाइट के मुताबिक वो ऑटोमोटिव, इंजीनियरिंग और डिजाइन सेवाओं, नवीकरणीय ऊर्जा और शिक्षा के क्षेत्र में काम करती है और कंपनी का वैश्विक स्तर पर कुल 18 स्थानों पर 35 मेन्यूफेक्चरिंग प्लांट हैं। जेबीएम की स्थापना 1983 में एलपीजी सिलेंडर बनाने के लिए की गई थी। 1985 में जेबीएम ने ऑटोमोबाइल पार्ट्स सेक्टर में कदम रखा था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Income Tax raids on Jai Bharat Maruti group, IT Department recovered 43 kg bullion and Rs 8 crore cash

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.