• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

छत्तीसगढ़: हसदेव अरण्य बचाने हजारों आदिवासियों का जमावड़ा, सर्व आदिवासी समाज की अगुवाई में रेल रोको आंदोलन

|
Google Oneindia News

अंबिकापुर, 20 मई। छत्तीसगढ़ के हसदेव अरण्य क्षेत्र के परसा कोयला खदान में कोयला निकालने के लिए बड़े पैमाने में पेड़ों की कटाई का विरोध दिनों दिन बढ़ता ही जा रहा है। छत्तीसगढ़ सरकार के इस निर्णय के खिलाफ और आदिवासियों के समर्थन में भारत और विदेशो में भी आंदोलन चल रहा है।

f

इस बीच शुक्रवार को हसदेव अरण्य में कोयला खनन परियोजना को स्वीकृति देने के खिलाफ चल रहे आंदोलन को समर्थन देते हुए छत्तीसगढ़ सर्व आदिवासी समाज ने रेल रोको आंदोलन का आह्वान किया है,जिसको समर्थन देने छत्तीसगढ़ से हजारों की संख्या में आदिवासी हसदेव पहुंच रहे हैं।


गौरतलब है कि सरगुजा के हसदेव अरण्य में पेड़ों की कटाई के विरोध में दुनियाभर के सामाजिक ,पर्यावरण सचेतक और आदिवासी संगठन सामने आ गए हैं। हसदेव अरण्य के जंगलों में बीते एक दशक से जंगल काटकर कोयला निकाला जा रहा है, वहीं छत्तीसगढ़ सरकार की तरफ से इसी क्षेत्र में दो नई खदान खोले जाने की मंजूरी मिलने के बाद प्रभावित ग्रामीणों ने अपना विरोध शुरू कर दिया है। स्थानीय ग्रामीण आदिवासी अपने जल, जंगल और जमीन को बचाने के लिए बीते 79 दिनों से धरने पर बैठे हैं। जल ,जंगल और जमीन को बचाने के पक्षधर सर्व आदिवासी समाज के इस आंदोलन में शामिल होने का बाद सरकार पर दबाव बढ़ने लगा है।
f
हसदेव अरण्य को बचाने और परसा खदान के विरोध में हरिहरपुर गांव में चल रहे अनिश्चितकालीन आंदोलन को अपना समर्थन देने हरदिन विभिन्न आंदोलनों, राजनीतिक पार्टियों और सामाजिक संगठनों से लोग पहुंच रहे है। छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के आंदोलन से जुड़े छत्तीसगढ़ स्वाभिमान संस्थान मंच के उदयभान सिंह का कहना है कि आप जल, जंगल, जमीन को बचाने के लिए संकल्पित है और आज आप की लड़ाई सिर्फ छत्तीसगढ़ नही बल्कि विश्वव्यापी हो चुकी है। छत्तीसगढ़ के किसी भी आंदोलन को आज तक इतना समर्थन नहीं मिला जितना हसदेव को मिला है। पूर्व विधायक वीरेंद्र पांडे ने कहा कि गांधी जी कहते थे कि हमारी धरती हर आवश्यकता को पूरा कर सकती है, लेकिन लूट और लालच को पूरा नही कर सकती। हसदेव को लूट, लालच और मुनाफे के लिए खत्म किया जा रहा हैं।

यह भी पढ़ें छत्तीसगढ़: राज्यपाल अनुसूईया उइके ट्विटर हैक प्रकरण, थाने में शिकायत दर्ज, अब भी ठप पड़ा है संचालन

Comments
English summary
Chhattisgarh: Thousands of tribals gathered to save Hasdeo Aranya, stop rail movement led by Sarva Adivasi Samaj
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X