• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Balod जिले में धधक रही अवैध कोयले की भट्टियां, वन विभाग बेखबर, काट रहे हरे-भरे पेड़

बालोद जिले में कोयले का अवैध कारोबार हो रहा है। यहां बीच खेत में कोयले की अवैध भठ्ठियां लगाई गई है। हरे लकड़ियों को जलाकर कोयला बनाया जा रहा है। कोयले को बाजारों में बेचा जा रहा है
Google Oneindia News

छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में कोयला बनाने के लिए हरे भरे पेड़ों की बलि दी जा रही है। जिले में पहले की अवैध लकड़ी की कटाई और बिक्री का खेल चल रहा है। बालोद जिले के ग्राम जुगेरा में इसी तरह अवैध कोयले कि भट्टी धधक रही है। और इसके लिए हरे पेड़ों की कटाई भी की जा रही है। इस पूरे घटना क्रम से जिले का वन विभाग पूरी तरह बेखबर है।

पेड़ों की कटाई से वन विभाग बेखबर

पेड़ों की कटाई से वन विभाग बेखबर

बालोद क्षेत्र में वन और पर्यावरण विभाग की सक्रियता का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि यहां हरे पेड़ पौधे धड़ल्ले से काटे जा रहे है। इसका उपयोग जुगेरा में कोयला बनाने के लिए किया जा रहा हैं। आसपास के गांव से कम दामों में हरे पेड़ों को खरीदकर भट्टी में खपाया जा रहा हैं। स्थानीय लोगो के अनुसार सैकड़ों क्विटल लकड़ी भट्टी में प्रयोग की जाती है। फिर उसी लकड़ी को जलाकर कोयला बनाकर ऊंचे दामों में बाहर ले जाकर बेंचा जाता है। कोयला बनाने के लिए लकड़ी का कोयला बनाने के लिए गीली लकड़ी सबसे बेहतर होती है। ऐसे में हरे-भरे पेड़ों से लकड़ियां काटकर उपयोग करते हैं।

जुगेरा में संचालित है अवैध कोयला भट्टी

जुगेरा में संचालित है अवैध कोयला भट्टी

बालोद जिला मुख्यालय से 3 किमी दूरी पर स्थित ग्राम जुगेरा में कोयले का काला कारोबार बेखौफ चल रहा है। बंजारी मन्दिर के पीछे खेतों में कोयले की अवैध भट्टी चल रही है। यहां रोजाना सैकड़ों बबूल व अन्य हरे वृक्षों की लकड़ियाें को भट्टियों में डाल कर सैकड़ों टन कोयला निकाला जा रहा है। कोयला माफियाओं के खिलाफ पंचायत, पुलिस व प्रशासन ने ही अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

कोयले का हो रहा अवैध कारोबार

कोयले का हो रहा अवैध कारोबार

यहां अवैध भट्टी के लिए पेंडो की कटाई का खेल तो चल ही रहा है। लेकिन ग्राम जुगेरा के ग्रामीण द्वार लम्बे समय से कोयला का कारोबार किया जा रहा हैं। खेत में भट्टियां बना कर कोयले की फैक्ट्री खोली गई है। कोयले की भट्टियां लगाई और कोयले का अवैध धंधा शुरू कर दिया। अवैध फैक्ट्री में सैकड़ो किलो कोयला निकाला जा रहा हैं। वही इस मामले पर कोयला फ़ैक्ट्री के संचालक ने वन विभाग बालोद में अनुमति के लिए आवेदन लगाने की बाते कही हैं।

Balod जेल की दीवार फांदकर फरार हुए दो कैदी, पुलिस विभाग में मचा हड़कंप, जांच के लिए बनी टीमBalod जेल की दीवार फांदकर फरार हुए दो कैदी, पुलिस विभाग में मचा हड़कंप, जांच के लिए बनी टीम

Comments
English summary
Balod district Illegal coal furnace, forest department unaware, cutting green trees to make coal
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X