• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Ambikapur: मासूमों की मौत मामले में एचओडी समेत तीन को मिला नोटिस, जवाब देने में डॉक्टरों के छूट रहे पसीने

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में हुए हादसे पर जांच रिपोर्ट के आधार पर सरकार ने तीन जिम्मेदार अधिकारियों को नोटिस जारी किया है। इन डॉक्टरों से दो दिनों में जवाब मांगे गए हैं।
Google Oneindia News
ambikapur college

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 5 दिसम्बर को हुई घटना के मामले में जांच टीम ने रिपोर्ट शासन को भेज दी थी जिसके बाद अब इस घटना में जवाबदार शिशु रोग विभाग के एचओडी सुधा सिंह, एमएस डॉ लखन सिंह और अस्पताल की सुपरिटेंडेंट प्रियंका कुरील को नोटिस जारी किया गया है। इस बड़ी घटना से पूरे स्वास्थ्य महकमे में हड़कम्प मचा हुआ है। वहीं इस पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Chhattisgarh

नोटिस में डॉक्टरों से दो दिन में मांगा गया जवाब
अपने नोटिस में शासन ने जिम्मेदार डॉक्टरों और अधिकारियों से जांच रिपोर्ट के आधार पर पूछा है कि संवेदनशील विभाग में मल्टीपल डॉक्टरों की ड्यूटी क्यों नहीं लगाई गई थी। घटना की रात और सुबह किनकी ड्यूटी थी ? वहीं बिजली बंद होने के दौरान अस्पताल में वैकल्पिक व्यवस्था क्या है, दिन भर में डॉक्टरों के राउंड, जैसे 10 बिंदुओं पर दो दिन के भीतर जवाब मांगा गया है। कल सभी जवाबदार अधिकारी अपना जवाब प्रस्तुत करेंगे। डॉक्टर अब नोटिस का जवाब तैयार कर रहें हैं। क्योंकि जवाब से असंतुष्ट होने पर मंत्रालय डॉक्टरों पर कार्रवाई कर सकता है।

medical hospital

अस्पताल में अब किया जा रहा सुधार
अस्पताल में हुए इस घटना के बाद अब जिला प्रशासन सप्ताह में एक दिन मीटिंग लेकर व्यवस्थाओं की जानकारी लेगा। यानी मेडिकल कालेज प्रसाशन की की सख्त निगरानी में रहेगा। अब रोज सीनियर डॉक्टर रोज राउंड करेंगे और मेडिकल रिपोर्ट पर हस्ताक्षर करेंगे। वहीं प्रत्येक वार्ड के जिम्मेदार अधिकारी प्रतिदिन निरीक्षण करेंगे। जूनियर डॉक्टर को डेली रिपोर्ट सीनियर डॉक्टर को देनी होगी। गम्भीर मामलों में सीनियर डॉक्टर पीड़ित का इलाज करेंगे।

यह भी पढ़ें,, Ambikapur: नवजातों की मौत मामले में स्वास्थ्य मंत्री तक पहुंची जांच रिपोर्ट, डॉक्टरों पर गिर सकती है गाज

NICU, ICU, SNCU में निर्बाध बिजली आपूर्ति के निर्देश
मेडिकल कॉलेज में विद्युत व्यवस्था सुधारने के निर्देश मेडिकल कॉलेज प्रबंधन को दिए गए हैं। जिसके बाद विद्युत मण्डल द्वारा डबल फीडर कनेक्शन की व्यवस्था की जा रही है। साथ ही जनरेटर को भी दुरुस्त किया जा रहा है। आईसीयू वेंटिलेटर, SNCU और NICU जैसे विभाग में निर्बाध बिलजी आपूर्ति की जाएगी। क्योंकि परिजनों ने बिजली बंद होने के कारण बच्चों की मौत के आरोप लगाए थे।

डीएमई ने शासन को भेजी थी रिपोर्ट
मेडिकल कॉलेज अस्पताल के SNCU और NICU में नवजात बच्चों की मौत के मामले में 48 घंटे में जांच रिपोर्ट सौंपने के जिम्मेदारी मेकाहारा के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम को दी गई थी। जिसका समय बुधवार को समय पूरा हो गया है। इस टीम ने तय समय के अनुसार जांच पूरी कर डायरेक्टर ऑफ मेडिकल एजुकेशन को यह रिपोर्ट सौंपी थी। वहीं डीएमई ने भी इस गम्भीर मामले को बिना विलंब किये स्वास्थ्य मंत्री को भेजा जिसके बाद जिम्मेदारों को नोटिस जारी किया गया है।

Comments
English summary
Ambikapur: In the case of death of innocent, three including HOD received notice, doctors are sweating in replying
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X