• search
चेन्नई न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोयंबटूरः किसी अपने की मौत के बाद बच्ची खाने लगी थी बाल और शैंपू के पैकेट, पेट से निकला आधा किलो बाल

|

कोयंबटूर। तमिलनाडू के कोयंबटूर से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां एक 13 साल की बच्ची के पेट से डॉक्टरों ने करीब आधा किलो से ज्यादा बालों का गुच्छा और शैंपू के पाउच निकालकर उसकी जान बचाई। पीड़ित बच्ची पिछले कई महीनों से पेट दर्द के कारण परेशान रह रही थी। परिजन बच्ची को लेकर एक निजी अस्पताल ले गए। जहां चेक अप करने के बाद हैरान कर देने वाला मामला सामने आया।

स्कैनिंग के जरिए हुआ चौंकाने वाला खुलासा

स्कैनिंग के जरिए हुआ चौंकाने वाला खुलासा

हालांकि अब बच्ची की हालत बेहतर है। अस्पताल के चेयरमैन वीजी मोहनप्रसाद ने कहा कि स्कैनिंग में पता चला कि बच्ची के पेट में बाल की जैसी दिखने वाली कोई चीज है। इसके बाद डॉक्टर्स ने एंडोस्कोपी करने का फैसला लिया है। पहली कोशिश में सफलता नहीं मिलने पर चिकित्सकों ने ऑपरेशन करने का फैसला लिया। इसके बाद सर्जन गोकुल कृपाशंकर और उनकी टीम ने बच्ची की सर्जरी शुरू की।

किसी रिश्तेदार की मौत से सदमे में थी बच्ची

किसी रिश्तेदार की मौत से सदमे में थी बच्ची

सर्जरी के दौरान बच्ची के पेट से बालों का गुच्छा और शैम्पू के खाली पाउच निकाला गया। सर्जरी में करीब एक से डेढ़ घंटे का वक्त लग गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डॉक्टर गोकुल ने कहा कि बच्ची अपने किसी रिश्तेदार की मौत के कारण सदमे में थी। इसलिए उसने शैंपू के पैकेट और बाल खाने शुरू कर दिए।

सर्जरी के दौरान निकाले बालों का गुच्छा

सर्जरी के दौरान निकाले बालों का गुच्छा

इस वजह से उसको पेट दर्द की समस्या शुरू हो गई। बच्ची की हालत में तेजी से सुधार हो रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि तारकोबेजार नाम की एक मानसिक बीमारी होती है, जिसमें इंसान बाल नोंच-नोंच कर खाता है। पीड़ित बच्ची को भी यही बीमारी थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
tamilnadu coimbatore doctor did surgery of girl who eat hair and shampoo sachet
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X