• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कर्ज से जेट एयरवेज को उभारने के लिए मोदी सरकार ने टाटा ग्रुप से मांगी मदद, जल्‍द हो सकता है बड़ा ऐलान

|

नई दिल्‍ली। देश का बड़ा बिजनेस घराना टाटा आने वाले दिनों में एविएशन इंडस्ट्री में भी राज करने की योजना में जुटा है। इसके तहत टाटा संस कर्ज के तले दबी जेट एयरवेज का अधिग्रहण करके सबसे बड़ी एविशन डील को अंजाम दे सकती है। जानकारी के मुताबिक घाटे पर घाटा झेल रही जेट एयरवेज को संकट से उबारने के लिए खुद मोदी सरकार ने पहल की है और टाटा सन्स से मदद की गुहार लगाई है।

कर्ज से जेट एयरवेज को उभारने के लिए मोदी सरकार ने टाटा ग्रुप से मांगी मदद, जल्‍द हो सकता है बड़ा ऐलान

खबर है कि टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन शुक्रवार को बोर्ड मेंबर्स के सामने जेट एयरवेज के अधिग्रहण का प्लान रख सकते हैं। इसी संकेत के साथ एयरलाइंस के शेयरों की कीमतों में 24 फीसदी का इजाफा हो चुका है। बीते गुरुवार को इसके शेयरों में सर्वाधिक एक दिनी उछाल आया और इसकी कीमत 320 रुपये से ऊपर पहुंच गई। अगर जेट में निवेश पर सहमति बनी, तो एविएशन इंडस्ट्री में टाटा का यह अब तक का तीसरा इन्वेस्टमेंट होगा। इसके पहले वह एयर एशिया और विस्तारा में पैसे लगा चुकी है।

पीएम मोदी के कहने पर टाटा ग्रुप हुआ है तैयार

टाटा ग्रुप से जुड़े सूत्र बताते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी ने टाटा ग्रुप से जेट एयरवेज की माली हालत सुधारने को कहा था। मोदी सरकार खुद जेट एयरवेज को डूबने से बचाने के लिए स्थिति पर नजर बनाए हुए है। दरअसल, सरकार खुद एविएशन सेक्टर में हो रही उठापटक से सरकार चिंतित है। इसलिए टाटा ग्रुप से जेट एयरवेज की मदद करने को कहा गया है। सूत्रों की मानें इस मदद के बदले में टाटा ग्रुप को सरकार की तरफ से कई फायदे दिए जा सकते हैं। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री के कहने के बाद ही टाटा ग्रुप इस डील को फाइनल करने के लिए तैयार हुआ है।

जेट एयरवेज पर अभी 86 अरब का कर्ज

अभी जेट का मार्केट वैल्यू 2,928 करोड़ रुपये है और इस पर 86 अरब का कर्ज है। टाटा से डील के बाद वह वित्तीय संकट से बाहर आ सकेगी। आर्थिक संकट की वजह से वह अपने कर्मचारियों को सैलरी तक देने में सक्षम नहीं है। इस डील के बाद देश की एविएशन इंडस्ट्री में टाटा का शेयर बढ़कर 24 प्रतिशत हो जाएगा। बता दें कि जेट एयरवेज के पास अपना कुल 124 जहाज हैं। घरेलू मार्केट में उसकी हिस्सेदारी कुल 16 प्रतिशत और अंतरराष्ट्रीय मार्केट में 14 प्रतिशत है। वहीं, विस्तारा और एयरएशिया इंडिया की डोमेस्टिक मार्केट में हिस्सेदारी 4-4 प्रतिशत है। इन दोनों कंपनियों के इंटरनैशनल फ्लाइट्स नहीं हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Modi govt has approached Tata Group to help rescue Jet Airways.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X