रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, 400 अरब डॉलर के पहुंचा पार

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत का विदेशी मुद्रा भंडार रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। शुक्रवार को विदेशी मुद्रा भंडार 400 अरब डॉलर (25.66 अरब रुपये) को पार कर गया है। 8 सितंबर को विदेशी मुद्दा भंडार में सबसे तेज उछाल देखने को मिला। खास तौर से प्रत्यक्ष विदेशी निवेश परियोजनाओं और पोर्टफोलियो में सीधे निवेश से हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक, बीते करीब साढ़े तीन साल में विदेशी मुद्रा भंडार में 100 अरब डॉलर की वृद्धि हुई है। खास तौर से पहली तिमाही में विदेशी मुद्रा भंडार में 6.6 अरब डॉलर की बढ़ोतरी देखी गई है।

इसे भी पढ़ें:- 10 ऐसे बैंकिंग लेनदेन जो हो सकते हैं संदिग्ध, देखिए पूरी सूची

शुक्रवार को रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार

शुक्रवार को रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार

अप्रैल 2014 में भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 300 अरब डॉलर को पार किया था, इसके बाद मौजूदा 100 अरब डॉलर का आंकड़ा हासिल करने में करीब साढ़े तीन साल लगे हैं। वैश्विक वित्तीय संकट का असर भारतीय रुपए और अर्थव्यवस्था पर उस तरह से नहीं और विदेशी मुद्रा भंडार 300 अरब डॉलर के पार पहुंचा था। इसका मौजूदा स्तर एक साल से ज्यादा समय तक आयात के लिए पर्याप्त है।

विदेशी मुद्रा भंडार रैंकिग में 6वें नंबर पर पहुंचा भारत

विदेशी मुद्रा भंडार रैंकिग में 6वें नंबर पर पहुंचा भारत

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से शुक्रवार को जारी किए गए साप्ताहिक आंकड़े के अनुसार, विदेशी पूंजी भंडार का सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा भंडार आलोच्य सप्ताह में 256.85 करोड़ डॉलर बढ़कर 376.20 अरब डॉलर हो गया है, जो 24,023.9 अरब रुपये के बराबर है। बैंक के मुताबिक, विदेशी मुद्रा भंडार को डॉलर में व्यक्त किया जाता है और इस पर भंडार में मौजूद पाउंड, स्टर्लिग, येन जैसी अंतर्राष्ट्रीय मुद्राओं के मूल्यों में होने वाले उतार-चढ़ाव का सीधा असर पड़ता है।

चीन और जापान सबसे आगे

चीन और जापान सबसे आगे

सितंबर 2016 में उर्जित पटेल ने भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में पदभार संभाला था, तब से लेकर अब तक इसमें 30 अरब डॉलर की वृद्धि हुई है। विदेशी मुद्रा भंडार में सबसे अधिक हिस्सेदारी फॉरेन करेंसी एसेट (एफसीए), ड्रॉइंग राइट्स और सोने की है। विदेशी मुद्रा भंडार में हुए इजाफे के बाद उम्मीद है कि वैश्विक बाजारों में आने वाले किसी भी तरह के संकट से ये मुकाबला कर सकता है। भारत अब विदेशी मुद्रा भंडार रैंकिग में 6वें नंबर पर है। इस सूची में चीन और जापान सबसे आगे हैं। भारत इस रैंकिंग में ताइवान, ब्राजील और यूरो जोन से आगे है।

इसे भी पढ़ें:- Ryan Murder Case: 135 स्कूल, 3 लाख छात्र, जानिए कितना बड़ा है रायन स्कूल ग्रुप

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India foreign exchange reserves hits 400 billion dollar for first time.
Please Wait while comments are loading...