• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

टेलिकॉम इंडस्ट्री को झटका, अगले 6 महीने में बंद होंगे 6 करोड़ SIM कार्ड, जानिए क्या है वजह?

|

नई दिल्ली। अगले 6 महीने में टेलिकॉम सेक्टर को बड़ा झटका लगने वाला है। टेलिकॉम में अगले 6 महीने में सब्सक्राइबर्स की संख्या 6 करोड़ घट जाएगी। मोबाइल फोन यूजर्स अगले 6 महीने में 6 करोड़ सिम कार्ड को अलविदा कर देंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि लोग अलग-अलग कंपनियों के मल्टीपल सिम रखने के बजाए एक टेलिकॉम कंपनी का एक ही सिम रखने को तरजीह दे रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि पिछले कुछ दिनों में प्राइस और डेटा वॉर की वजह से लगभग सभी कंपनियों के प्लान एक जैसे होने लगे हैं। ऐसे में ग्राहक अलग-अलग सिम कार्ड रखने के झंझट का खत्म करना चाहते हैं।

 बंद होंगे 6 करोड़ मोबाइल सिम कनेक्शन

बंद होंगे 6 करोड़ मोबाइल सिम कनेक्शन

इकनॉमिक टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले 6 महीने में लगभग 6 करोड़ सिम बंद हो जाएंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि अब लोग दो SIM कार्ड रखने की जगह एक ही कार्ड को ज्‍यादा तरजीह दे रहे हैं। अखबार ने अपनी रिपोर्ट में COAI के डायरेक्टर जनरल राजन मैथ्यू के हवाले से लिखा है कि आने वाले च महीने में मोबइल यूजर्स की संख्‍या में 2.5 से 3 करोड़ की कमी आ सकती है। जबकि एक औक एक टेलीकॉम विश्‍लेषक ने दावा किया है कि यूजर्स की संख्या में 4.5 से 6 करोड़ तक की कमी आ सकती है।

 क्यों बंद होंगे सिम कनेक्शन, क्या है वजह

क्यों बंद होंगे सिम कनेक्शन, क्या है वजह

रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस जियो के आने के बाद लोगों ने दो कनेक्शन को तरजीह दी, लेकिन पिछले कुछ दिनों में हालात बदल गए। हर टेलिकॉम कंपनी के प्लान लगभग एक जैसे हो गए हैं। जियो की वजह से जो प्राइस वॉर शुरू हुआ उसके बाद एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया ने लगभग एक जैसे प्लान पेश करने लगे। इसी वजह से लोगों ने दो या तीन विकल्प के बजाए एक को चुनना बेहतर समझा।

 जियो की वजह से शुरू हुआ प्राइस वॉर

जियो की वजह से शुरू हुआ प्राइस वॉर

रिपोर्ट के मुताबिक अगस्‍त 2018 के आखिरी में देश में 1.2 अरब मोबाइस फोन यूजर्स थे। वहीं सिंगल सिम इस्‍तेमाल करने वाले सब्‍सक्राइबर्स की संख्‍या लगभग 7.5 करोड़ है। अब लोग मल्टीपल सिम के बजाए सिंगल सिम को बढ़ावा दे रहे हैं। टेलिकॉम कंपनियों ने रिलायंस जियो से निपटने के लिए अपने प्लान में बदलाव किए। पहले से सस्ता और ज्यादा डेटा वाले प्लान पेश किए। ताकि लोग आकर्षित हो सके। इसी का नतीजा है कि अब सभी टेलिकॉम कंपनियों के प्लान लगभग एक जैसे होने लगे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India dumps the second SIM card with a vengeance, 60 mn numbers set to be history.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X