गर्दन को चीरता हुआ 5 फीट का सरिया हो गया आर-पार, जानें फिर क्या हुआ

Posted By: Prashant
Subscribe to Oneindia Hindi

पटना। जाको राखे साइयां मार सके ना कोई। कुछ इसी तरह की कहानी उस वक्त चरितार्थ हो गई जब एक महिला की गर्दन में 5 फीट का सरिया आर-पार हो गया और दर्द से चीखती-चिल्लाती महिला को डॉक्टरों ने बचा लिया। जी हां कुछ इसी तरह का नजारा राजधानी पटना के एक प्राइवेट हॉस्पिटल उदयन में देखने को मिला जहां राधिका देवी नाम की महिला के गर्दन में 5 फीट का सरिया घुसा हुआ था । सरिया घुसने के कारण उसकी सांसें तो चल रही थी पर शरीर में कोई भी हलचल नहीं थी सिर्फ खून ही खून नजर आ रहा था। जो कोई भी उसे देखता वह घबरा जाता लेकिन डॉक्टरों की टीम ने 3 घंटे तक ऑपरेशन कर उस की जान बचा ली।

छाती से गर्दन तक 5 फिट का सरिया हुआ आर-पार

छाती से गर्दन तक 5 फिट का सरिया हुआ आर-पार

मिली जानकारी के अनुसार मामला बिहार के मुजफ्फरपुर जिले का है जहां की रहने वाली राधिका देवी अपने निर्माणाधीन मकान के पास कुछ काम कर रही थी तभी अचानक पैर फिसलने के कारण निर्माणाधीन मकान के पिलर से जा टकराई और उसके छाती को चीरते हुए 5 फीट का सरिया गर्दन के पार हो गया। महिला के गले में लोहे का सरिया घुसने के बाद किसी तरह चीखते हुई अपनी मदद के लिए आसपास के लोगों को बुलाया।

देखकर घबरा गए लोग

देखकर घबरा गए लोग

आसपास के लोग वहां उसकी मदद के लिए पहुंचे तो सभी उसकी हालत देख घबरा गए। लेकिन इलाज के लिए महिला को उदयन अस्पताल में भर्ती कराया। जहां 3 घंटे तक डॉक्टरों की कड़ी मेहनत के वजह से महिला के गर्दन में ऑपरेशन कर सरिया को बाहर निकाला गया जिसके बाद महिला सब कुशल जिंदा बच गई।

घर वालों की सजगता से बची जान

घर वालों की सजगता से बची जान

वहीं महिला के इलाज करने वाले डॉक्टर अजय आलोक का कहना है कि महिला की जान बचाने में सबसे बड़ा योगदान उनके घर वालों का है क्योंकि सरिया घुसने के बाद उन लोगों ने उसे बाहर निकालने की कोशिश नहीं की और तुरंत डॉक्टरों की मदद ली। गर्दन में सरिया लगे रहने से शरीर से खून कम निकला। अगर वे खुद सरिया निकालते तो अधिक खून बहने से महिला की जान को खतरा हो सकता था।

 काट-काटकर निकाला गया सरिया

काट-काटकर निकाला गया सरिया

इलाज करने वाले डॉक्टरों का कहना था कि महिला के गले मे फंसे सरिया को पहले काट-काट कर छोटा किया गया। फिर महिला का सीटी स्कैन किया गया जिससे यह जान सके कि शरीर का कौन सा अंग क्षतिग्रस्त हुआ है। फिर ईएनटी के डॉक्टर चंदन और जनरल सर्जन डॉ शिशिर ने महिला के गर्दन से सरिया निकाला। सरिया निकालने के बाद महिला के गर्दन को हुए नुकसान को ठीक किया गया। महिला की हालत अब स्थिर है। वह मिलने आए लोगों से बात कर रही है।

ये भी पढ़ें- VIDEO: रो कर बोलीं अनारा गुप्ता- ठगी की होती तो भाग चुकी होती विदेश

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
patna iron rod cross thru throat of woman
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.