• search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

दशहरे पर भोपाल पहुंचे अभिनेता अभिषेक बच्चन और जया बच्चन, कालीबाड़ी की झांकी में बंगाली महिलाओं ने खेला सिंदूर

टीटी नगर स्थित कालीबाड़ी की झांकी में जया बच्चन और अभिषेक बच्चन ने मां दुर्गा का पूजन किया। इसके बाद बंगाली औरतों के साथ सिंदूर भी खेला। बता दे मां बेटे करीब 5 मिनट तक दुर्गा पंडाल में रहे।
Google Oneindia News

भोपाल,5 अक्टूबर। दशहरे के पर्व पर राजधानी पहुंच कर अभिनेता अभिषेक बच्चन और जया बच्चन ने मां दुर्गा मां के दर्शन किए। टीटी नगर स्थित कालीबाड़ी की झांकी में जया बच्चन और अभिषेक बच्चन ने मां दुर्गा का पूजन किया। इसके बाद बंगाली औरतों के साथ सिंदूर भी खेला। बता दे मां बेटे करीब 5 मिनट तक दुर्गा पंडाल में रहे। इस दौरान उनको देखने के लिए बड़ी संख्या में भोपाल के लोगों की भीड़ उमड़ गई। इसके बाद वह अपने मौसी के घर के लिए निकल गए। उनके साथ बेटी आराध्या बच्चन भी झांंकी देखने आई थी।

Actors Jaya & Abhishek Bachchan Bhopal on Dussehra, Bengali women vermilion

बता दे कालीबाड़ी में आज बंगाली समाज की महिलाओं ने दशहरे पर्व पर झांकी के अंदर सिंदूर से होली खेली। देवी जी को सिंदूर लगाते हुए ढोल नगाड़ों के साथ पारंपरिक डांस भी किया। लेकिन इस बीच बारिश हो जाने के कारण कार्यक्रम ज्यादा लंबा नहीं चल सका। आधे घंटे की बारिश ने पूरे पंडाल को गीला कर दिया। इसके बाद भी कालीबाड़ी की झांकी पर बंगाली महिलाओं का डांस जारी रहा।

Recommended Video

दशहरे पर भोपाल पहुंचे अभिनेता अभिषेक बच्चन और जया बच्चन

क्यों खेलते सिंदूर से होली

बंगाली समाज की मान्यता अनुसार दुर्गा पूजा के आखिरी दिन सिंदूर से होली खेली जाती है। बंगाली समाज के अनुसार यह एक रस्म होती है, जो जो आखिरी दिन निभाई जाती है। परंपरा के अनुसार ऐसा माना जाता है कि देवी दुर्गा अपने चार बच्चों के साथ दुर्गा पूजा उत्सव मनाने के लिए धरती पर आती है। दुर्गा मां 9 दिन तक धरती पर रहती है इसके बाद जब वे यहां जाती है तो अंतिम दिन उदासी वाला माहौल बन जाता है। जब देवी जी की विदाई होती है तो ऐसा माना जाता है कि दुर्गा मां के आंसू बहे थे, इसलिए उनके गालों को पान के पत्तों से पूछा जाता है इसके बाद उनकी मांग में और पारंपरिक चूड़ियों पर सिंदूर लगाकर फिर सिंदूर होली खेली जाती है। इसके बाद महिलाएं अपनी सुखी जीवन और परिवार की खुशहाली के लिए मनोकामना करती हैं और एक दूसरे को सिंदूर लगाकर मिठाई खिलाती हैं।

वही बंगाली समाज की महिलाओं ने कहा कि दुर्गा मां अपने मायके आती हैं। जब वह जहां से जाती हैं तो हम उन्हें सिंदूर लगाकर विदा करते हैं। दशहरे वाले दिन यह परंपरा निभाई जाती है। इस दिन हम खूब इंजॉय करते हैं।

ये भी पढ़ें : 'मास्क निकालना पड़ेगा...' जया बच्चन को काजोल ने क्यों लगाई फटकार? वायरल हुआ वीडियोये भी पढ़ें : 'मास्क निकालना पड़ेगा...' जया बच्चन को काजोल ने क्यों लगाई फटकार? वायरल हुआ वीडियो

Comments
English summary
Actors Abhishek Bachchan and Jaya Bachchan reached Bhopal on Dussehra, Bengali women played vermilion in the tableau of Kalibari
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X