• search
बरेली न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

यूपी: रिश्वत नहीं दी तो बर्थ सर्टिफिकेट में 4 साल के बच्चे की उम्र कर दी 104 साल, कोर्ट पहुंचा मामला

|

बरेली. एक शख्स ने रिश्वत न दी तो उसके मासूम बच्चे की उम्र ग्राम विकास अधिकारी (वीडीओ) एवं ग्राम प्रधान ने बर्थ सर्टिफिकेट में 104 साल लिखवा दी। सिर्फ एक ही बच्चे नहीं, बल्कि दूसरे 2 साल के बच्चे की उम्र भी 102 साल दर्ज करा दी गई। यह कारगुजारी देख बर्थ सर्टिफिकेट का आवेदन करने वाले शख्स ने सरकारी अधिकारियों के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया है। अदालत ने इस मामले में आरोपित वीडीओ और ग्राम प्रधान पर मुकदमा चलाने के आदेश दे दिए हैं।

रिश्वत न दी तो बच्चे की उम्र 104 साल कर दी

रिश्वत न दी तो बच्चे की उम्र 104 साल कर दी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बरेली की विशेष न्यायाधीश द्वितीय भ्रष्टाचार निवारण अदालत ने उक्त मामले में यह आदेश दिए। जबकि, मामला शाहजहांपुर जिले के के थाना खुटार क्षेत्र का है। पीड़ित अभिभावक का कहना है कि, मेरे रिश्वत नहीं देने पर 4 साल के शुभ और उसके छोटे भाई संकेत के जन्म प्रमाणपत्रों (बर्थ सर्टिफिकेट) में उनकी उम्र 100 साल बढ़ाकर लिखवा दी। वादी पक्ष के अधिवक्ता राजीव सक्सेना के मुताबिक, शाहजहांपुर के बेला गांव के पवन कुमार ने अपने भतीजे शुभ (4 वर्ष) और संकेत (2 वर्ष) का जन्मप्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। तब वीडीओ सुशील चंद्र अग्निहोत्री और ग्राम प्रधान प्रवीण मिश्र ने रिश्वत मांगी थी। पवन ने रिश्वत देने से मना कर दिया।

शाहजहांपुर के बेला गांव का मामला

शाहजहांपुर के बेला गांव का मामला

बाद में पवन ने ​देखा शुभ की जन्मतिथि 13 जून 2016 के स्थान पर 13 जून 1916 लिख दी गई थी। वहीं, संकेत की जन्मतिथि 6 जनवरी 2018 की जगह 6 जनवरी 1918 दर्ज कर दी गई। दोनों के यही प्रमाण-पत्र तैयार होकर आए।
पवन यह शिकायत लेकर कोर्ट पहुंच गए। कोर्ट में विशेष न्यायाधीश द्वितीय भ्रष्टाचार निवारण मुहम्मद अहमद खां ने थाना खुटार की पुलिस को मुकदमा दर्ज करके मामले की तफ्तीश के आदेश दिए। पुलिस ने कहा कि अदालत के मुकदमा दर्ज करने का आदेश मिल गया है। कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

एक बर्थ सर्टिफिकेट की 500 रुपए रिश्वत मांगी

एक बर्थ सर्टिफिकेट की 500 रुपए रिश्वत मांगी

पवन कुमार शाहजहांपुर के बेला गांव के रहने वाले हैं। वह अपने भतीजे शुभ चार वर्ष व संकेत दो वर्ष का जन्म प्रमाण पत्र बनवाना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने ऑनलाइन आवेदन किया था। बाद में ग्राम विकास अधिकारी सुशील चंद्र अग्निहोत्री व ग्राम प्रधान प्रवीण मिश्र ने पवन से एक जन्म प्रमाण पत्र बनवाने की एवज में 500 रुपए की रिश्वत मांगी थी। पवन ने मना कर दिया था।

कक्षा-1 में पढ़ रहे अथर्व का IQ है 190, हरियाणा के कौटिल्य से भी तेज है इसका दिमागकक्षा-1 में पढ़ रहे अथर्व का IQ है 190, हरियाणा के कौटिल्य से भी तेज है इसका दिमाग

English summary
Birth certificate made four-years-child to 104-years-old in Bareilly for not paying bribe
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X