• search
अजमेर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कोरोना के खिलाफ एकजुटता की मिसाल, हिन्दू युवक ने रोजा रख मांगी अल्लाह से दुआ

|

अजमेर।

तुम राम कहो, वो रहीम कहें...

दोनों की ग़रज़ अल्लाह से है...

तुम दीन कहो, वो धर्म कहें...

मंशा तो उसी की राह से है !

जी हां। यही हिन्दुस्तान की खूबसूरती है। जब जब देश पर संकट आता है। हिन्दू-मुस्लिम सिख-इसाई सब एक हो जाते हैं। ऐसा ही कुछ देखने को मिला गरीब नवाज की नगरी अजमेर में जहां इन दिनों रमजान का पाक महिना चल रहा है।

Hindu youth kept fast in Ramzan for praying to Allah

इस दौरान मुस्लिम समाज के बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक रोजा रखते हैं और इबादत करते हैं। लेकिन अजमेर के लोंगिया मोहल्ले के रहने वाले एक हिन्दू युवक राहुल रेगर ने भी इस बार रोजा रखा है और कोरोना जैसी महामारी से दुनिया को मुक्ति दिलाने के लिए अल्लाह से दुआ मांगी है।

इस घर में आठ दिन से रोजाना निकल रहे कोबरा सांप, पूरी रात जागकर गुजार रहा परिवार

राहुल ने बताया कि उसने पहली बार रोजा रखा है। इस दौरान उसने अपने मुस्लिम दोस्तों से वो पूछकर उन सभी जरूरी चिजों का ख्याल किया जो एक आम मुस्लिम रोजा रखने के दौरान रखता है। बहरहाल राहुल हो या रहमत हो। यही एकजुटता। यही कौमी एकता हमारे देश की पहचान है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hindu youth kept fast in Ramzan for praying to Allah
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X