• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

हमारे घरों में है 50 लाख करोड़ का सोना

|

Indians Carry Gold Worth Over $950 Billion
दिल्‍ली। श्रृंगार का प्रतीक सोना अब सबसे सुरक्षित संपत्ति बन गया है। बेशक सोने की कीमतें आसमान छू रही हैं, पर इस पीली धातु से भारतीयों का मोह कभी कम नहीं हुआ। संकट के समय भी सोना न बेचने वाले भारतीय परिवार अब सुरक्षित संपत्ति के लिए सोने में बढ़चढ़ कर निवेश करने लगे हैं। उन्होंने अपने घरों में आभूषणों और अन्य रूपों में 18,000 टन सोना जमा कर रखा है। इसकी कुल कीमत 950 अरब डॉलर (करीब 49,40,000 करोड़ रुपये) है। यह देश के सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी का 50 प्रतिशत है।

ग्लोबल अनुसंधान फर्म मैकक्वैरी की रिपोर्ट में ये तथ्य सामने आए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय सोने के सौदे में भी नंबर वन बन गए हैं। जनवरी, 2010 से सितंबर 2011 के बीच कीमतों में 64 फीसदी इजाफे के बावजूद भी सोने की मांग बढ़ी है। बीते साल भारतीयों ने इसमें करीब 1,30,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है। यह आंकड़ा बीते साल उनकी कुल 329 अरब डॉलर की कुल बचत से निकाला गया है।

उन्होंने इसका 8 फीसदी तक हिस्सा पीली धातु में निवेश किया। सोना देश के आयात की तीसरी सबसे बड़ी मद है। इसका नंबर कच्चे तेल और पूंजीगत सामान के बाद आता है। वर्ष 2010 में देश में 92 फीसदी सोने की आपूर्ति आयात से पूरी की गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस साल की पहली तीन तिमाहियों में सोने की खपत पांच फीसदी की रफ्तार से बढ़ी है।

English summary
A new study that delved into the gold buying attitude of India showed its citizens carry gold in their households worth over $950 billion, representing 50 per cent of the country's GDP in dollar terms.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X