• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जोसफ स्टालिन की बेटी स्वेतलाना भारत की बहू भी थी

|
Google Oneindia News
Svetlana
दिल्ली (ब्यूरो)। स्टालिन की बटी स्वेतलाना अलिलुयेवा भारत की बहू भी थी। इंदिरा गांधी के करीबी और केंद्रीय मंत्री रही दिनेश सिंह के चाचा ब्रजेश सिंह से स्वेतलाना ने शादी की थी। स्वेतलाना ने चार शादियां की थीं। आखिरी शादी उन्होंने पेट्रास से की थी। कल स्वेतलाना की मौत अमेरिका में हो गई । वह 85 साल की थीं। उन्हें कैंसर हो गया था। ब्रजेश सिंह उन भारतीय कम्युनिस्टों में से एक जो रूस में बस गए थे। 1967 में ब्रजेश सिंह की मौत हो गई। कहा जाता है कि वहां उनका सही इलाज नहीं किया गया था।

स्वेतलाना ने तय किया था कि उनका अंतिम संस्कार हिंदू रिति- रिवाज के हिसाब से करेंगी। वह ब्रजेश सिंह कि अस्थियां गंगा में बहाने के लिए भारत भी लाई थी। हालांकि सोवियत नेताओं ने स्वेतलाना को ऐसा न करने के लिए मनाने की काफी कोशिश की थी। कहा जाता है कि उस समय के सोवियत प्रधानमंत्री अलेक्सी कोसिगिन ने उनसे कहा था कि वह जोखिम ले रही हैं क्योंकि कट्टर हिंदुओं में विधवाओं को मृत पति के साथ जलाने की परंपरा है। जिद पर अड़ी स्वेतलाना भारत पहुंच गईं। वह ब्रजेश सिंह के घर गई और वहीं बसना चाहती थीं। लेकिन भारत में रुकने की उन्हें अनुमति नहीं मिली।

जब वह उत्तर प्रदेश में अपने पति के पुश्तैनी गांव से दिल्ली लौटीं तो भारत नेहरू के बाद पहले आम चुनाव की गहमागहमी के बीच था। इसलिए वह उस समय के मीडिया में महत्वपूर्ण खबर नहीं बन सकी। लेकिन अचानक एक सुबह एक छोटे परमाणु धमाके जैसी खबर आई। स्टालिन की बेटी ने दिल्ली से अमरीका में शरण लेने की ठानी है।. सोवियत संघ ने भारत से कड़ा विरोध जताया। भारत इसमें कुछ नहीं कर सकता था अमेरिका के दबाव के आगे नेहरू झुक गए। स्वेतलाना भारत में सोवियत संघ के राजदूत निकोलाई बेनेडिक्टोव के यहां सोवियत दूतावास ठहरी हुई थीं।

वह धोखे से अमरीकी दूतावास में चली गई। अमरीकी दूतावास तब तक बंद हो चुका था। स्वेतलाना ने ड्यूटी पर तैनात अधिकारी को बताया कि वो कौन हैं और क्या चाहती हैं। अमरीकी राजदूत चेस्टर बॉवल्स को रात में आना पड़ा और अमेरिका जाने का रास्ता साफ हो गया। अमेरिका उस समय हर सोवियत संघ से भागे व्यक्ति को शरण देता था। राजदूत ने एक सीआईए अधिकारी के साथ स्वेतलाना को रोम की एक फ्लाइट में सवार होने के लिए एयरपोर्ट भेज दिया। फिर वहां से वह अमेरिका पहुंच गईं। जब स्वेतलाना रोम में सुरक्षित पहुंच गईं तभी इस खबर को जग जाहिर किया गया।

स्वेतलाना ने चार शादियां की थीं। आखिरी शादी उन्होंने विलियम पेट्रास से की थी। 1984 में वह सोवियत संघ लौट आई और पश्चिम को काफी कोसा। लेकिन एक साल बाद ही उनका बदलते रूस से मोह भंग हो गया और अमेरिका लौट गई और वहां जा कर कहा कि अब वह कभी रूस नहीं जाएंगी। अमेरिका में जा कर स्वेतलाना तो मीडिया में छाई रही लेकिन बेवकूफी भरे तमाम फैसलों के कारण उनकी जिंदगी के आखिर लम्हे तंगहाली में गुजरे। बायोग्राफी के लिए उस जमाने उन्हें 25 लाख डालर मिले थे। लेकिन उन्होंने काफी पैसा दान कर दिया और गलत निवेश में लगा दिया। यह दान उन्हें काफी भारी पड़ा । सोवियत संघ से भाग कर अमेरिका आए लोगों को वह मदद करती रही। लेकिन इस चक्कर में वह खुद मुसीबत में पड़ गई। स्वेतलाना की लड़की ओल्गा पोर्टलैंड में रहती है, जबकि बेटे जोसफ की मौत 2008 में हो गई थी। स्वेतलाना के दोनों भाइयों की मौत बहुत पहले ही हो गई थी।

English summary
The only daughter of Soviet dictator Josef Stalin has died in the US, aged 85. In 1967 she traveled to India to scatter the ashes of her Indian Communist lover in the river Ganges.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X