• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कौन होगा आईएमएफ का अगला चीफ?

By Neha Nautiyal
|
All eyes on IMF chief position
वाशिंगटन। भले ही आईएमएफ ने यौन शोषण के आरोप मे फंसे चीफ स्ट्रास कान के लेकर चुप्पी साध रखी हो लेकिन आईएमएफ के मुखिया की गद्दी को लेकर भारत, चीन, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका और यूरोप में सरगर्मियां तेज हो गई हैं। आईएमएफ के चीफ 62 वर्षीय स्ट्रास कान एक होटल कर्माचारी से यौन शोषण के आरोप में अमेरिका की रिकर्स जेल में बंद हैं।

अमेरिका के कोष सचिव टिमोथी गेथनर ने आईएमएफ से कान की जगह एक अंतरिम रुप से किसी दूसरे व्यक्ति को नियुक्त करना चाहिए। अमेरिका ने कहा कान अभी संगठन चलाने की स्थिति में नहीं हैं। ये पहली दफा नहीं है कि कान के ऊपर आरोप लगे हैं लेकिन कान इतने गंभीर आरोपों का सामना पहली बार कर रहे हैं। इस

सारे प्रकरण के पूरी दुनिया के नजरों के सामने आने के बावजूद अंतर्ऱाष्ट्रीय मुद्रा कोष ने अभी कर कान के संबंध में कोई भी बयान जारी नहीं किया है। माना जा रहा है कि या तो कान इस्तीफा देंगे या उन्हें चीफ के पद से हटा दिया जाएगा।

अब सवाल ये है कि आखिर किस देश का व्यक्ति आईएमएफ की अगला चीफ होगा। पारंपरिक तौर पर किसी यूरोपीय को आईएमएफ का मुखिया बनाया जाता है जबकि अमेरिकी व्यक्ति को वर्ल्ड बैंक का।

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The International Monetary Fund (IMF) has kept mum on chief Strauss Kahn, but battle beings for his successor. As China, Brazil and South Africa are looking forward to replace Kahn. 62 year old current IMF chief Strauss in jail after his arrest on attempted rape charges by a hotel maid.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more