बहरीन की भर्ती एजेंसियों ने भारत के न्यूनतम वेतन का विरोध किया

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
दुबई. 11 फरवरी. वार्ता. बहरीन में कामगारों की भर्ती करने वाली एजेंसियों ने भारत के नये न्यूनतम वेतन नियमों का विरोध करते हुये इन्हें एकपक्षीय बताया है

बहरीन की समाचार एजेंसी गल्फ न्यूज के अनुसार इन एजेंंसियों ने सामूहिक रूप से विरोध दर्ज कराते हुये कहा है कि नये नियमों के तहत न्यूनतम वेतन निर्धारित करने और खर्चीली कागजी कार्रवायी से उनका व्यापार बुरी तरह प्रभावित होगा1कामगारों की भर्ती करने वाली एजेंसी अल हुबील के प्रमुख अबास रेधा अल बसरी ने दावा किया कि नये नियमों का भारत के कामगार भी विरोध करेंगे

एजेंसी के अनुसार यहां काम कर रहे भारतीयों में से 40 प्रतिशत पोस्ट ग्रेजुएट होते हैं और मेडिकल एवं बैंकिंग क्षेत्र की बडी कंपनियों में काम करते हैं1 जबकि शेष सभी कम वेतन वाली नौकरियां करते हैं1 गौरतलब है कि भारत ने कल बेहरीन में कम से कम एक हजार दीनार वेतन के रूप देने का नियम लागू करते हुये कहा था कि इसी तरह की व्यवस्था खाडी के अन्य देशों में लागू करने के लिये बातचीत जारी है

बेहरीन कंस्ट्रक्शन सोसाइटी के अध्यक्ष नेदम कमास्की ने कहा कि न्यूनतम वेतन निर्धारित करने की बात एकपक्षीय है लेकिन इसके बावजूद हजारों भारतीय कामगार पुरानी वेतन प्रणाली के तहत ही नौकरी के लिये इच्छुक हैं1 उन्होंने कहा कि भारत सरकार के इस फैसले से कामगारों का ज्यादा नुकसान होगा

निर्मल.राणा 1919 वार्ता

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

X