• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Fact Check:क्या प्रियंका की वाराणसी रैली में सिर्फ कुरान की आयतें पढ़ी गईं? जानें सच

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, अक्टूबर 16: 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इस पूरी घटना को लेकर सरकार पर जबरदस्त दवाब बनाया। सीतापुर में उनकी नजरबंदी, लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों के परिवारों के साथ मुलाकात और फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गढ़ वाराणसी में उनकी 10 अक्टूबर की रैली ने जमकर सुर्खियां बटोरी। अब, प्रियंका गांधी की वाराणसी रैली से संबंधित दो वीडियो का एक कोलाज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

Fact Check: truth behind Priyanka Gandhi’s Varanasi rallys viral video

इस वायरल वीडियो में दावा किया जा रहा है कि प्रियंका की इस रैली के दौरान केवल इस्लामिक प्रार्थना पढ़ी गई थी। पहले वीडियो में रैली के दौरान मंच पर कुरान की आयतें सुनाई जा रही हैं। दूसरे वीडियो में, पुरुषों के एक समूह को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि रैली के दौरान लगभग 10 मिनट तक कुरान की आयतें पढ़ी गईं, और यह मंदिरों के शहर वाराणसी में स्वीकार्य नहीं हो सकता। इस वीडियो को बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा और बीजेपी आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय ने शेयर किया है।

ट्विटर पर वीडियो साझा करते हुए, भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि मुस्लिम समुदाय को खुश करने के लिए प्रार्थना की गई थी। वन इंडिया की टीम ने इस वीडियो की पड़ताल की है। दरअसल इस वायरल में वीडियो को शेयर कर ऐसा दिखाने का प्रयास किया जा रहा है कि, प्रियंका गांधी मुस्लिम तुष्टीकरण में लिप्त हैं। बता दें कि, 10 अक्टूबर की वाराणसी रैली के दौरान सिर्फ इस्लाम ही नहीं, कई अन्य धर्मों की प्रार्थनाएं की गई थीं।

संबित पात्रा के ट्वीट का जवाब देते हुए, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सोशल मीडिया प्रमुख रोहन गुप्ता ने उसी रैली का एक और वीडियो ट्वीट किया, जिसमें मंच पर हिंदू प्रार्थना सुनी जा सकती है। कीवर्ड सर्च की मदद से हमें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के यूट्यूब चैनल पर प्रियंका गांधी की वाराणसी रैली का पूरा वीडियो मिला है। एक घंटे 29 मिनट के इस वीडियो की शुरुआत में, हम एक व्यक्ति को विभिन्न धर्मों के पुजारियों को मंच पर आमंत्रित करते हुए सुन सकते हैं। वह शख्स कहता है कि, कांग्रेस सभी क्षेत्रों के साथ समान व्यवहार करने में विश्वास करती है, और हमारी परंपरा के अनुसार मैं हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई धर्मों के पुजारियों को प्रार्थना करने के लिए आमंत्रित करता हूं।

Fact Check: काउंसिल फॉर एलाइड एंड हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स का रिजस्ट्रेशन फॉर्म हुआ वायरल, जानें सचFact Check: काउंसिल फॉर एलाइड एंड हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स का रिजस्ट्रेशन फॉर्म हुआ वायरल, जानें सच

वायरल वीडियो जिसमें कुरान की आयतें सुनी जा सकती हैं, इस वीडियो के छठे मिनट के आसपास की क्लिप है। इसके बाद मंच पर सिख प्रार्थना भी सुनी जा सकती है। इसके अलावा, रैली के दौरान, प्रियंका गांधी ने देवी दुर्गा की प्रार्थना के साथ अपने भाषण की शुरुआत की। प्रियंका वीडियो में कहती सुनी जा सकती हैं कि, आज नवरात्रि का चौथा दिन है और मैं उपवास पर हूँ। मैं अपने भाषण की शुरुआत मां की स्तुति से कर रही हूं। कांग्रेस नेता ने अपना भाषण 'जय माता दी' के साथ समाप्त किया और लोगों को नवरात्रि की बधाई दी। इसलिए यह स्पष्ट है कि संबित पात्रा और कई अन्य लोगों ने एक अधूरा वीडियो साझा किया है।

Fact Check

दावा

वायरल वीडियो में दावा किया जा रहा है कि प्रियंका की इस रैली के दौरान केवल इस्लामिक प्रार्थना पढ़ी गई थी।

नतीजा

10 अक्टूबर की वाराणसी रैली के दौरान सिर्फ इस्लाम ही नहीं, कई अन्य धर्मों की प्रार्थनाएं की गई थीं।

Rating

False
फैक्ट चेक करने के लिए हमें factcheck@one.in पर मेल करें

Comments
English summary
Fact Check: truth behind Priyanka Gandhi’s Varanasi rally's viral video
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X