• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कराची में क्या पाक पीएम इमरान के विरोधियों की राजनीतिक रैली में लहराया गया तिरंगा, जानें सच

|

नई दिल्‍ली। पाकिस्तान में राजनीतिक उथल-पुथल के बीच कराची में इमरान खान के विरोधियों द्वारा आयोजित एक राजनीतिक रैली में तिरंगा लहराया गया था यह दावा किया जा रहा है। ये फोटो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है जिसको शेयर करके कैंप्‍शन में लिखा गया कि "70 वर्षों से, हमें चिढ़ाया जाता था क्योंकि पाकिस्तानी झंडे हमारे यहां लहराए जाते थे। अब, कराची की एक रैली में, भारतीय ध्वज लहराया गया। जय हिंद"। आइए जानते हैं क्या है इस वायरल फोटो की सच्‍चाई?

ऐसे सच आया सामने

ऐसे सच आया सामने

बता दें इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने दावे को झूठा पाया है। यह 18 अक्टूबर को पाकिस्तान में विपक्षी दलों द्वारा कराची में आयोजित एक बड़े प्रदर्शन से एडिट की हुई तस्‍वीर है जिसे कुछ सत्यापित ट्विटर हैंडल ने भी फोटो को साझा किया है। जांच में पाया गया कि वायरल छवि को करीब से देखने से पता चलता है कि तिरंगा एक सफेद पोल पर उठाया गया है और किसी के पास नहीं है। रिवर्स इमेज सर्च का उपयोग करते हुए, पाकिस्तान में कई मीडिया हाउस और सोशल मीडिया हैंडल पर ऐसे कई सामान फोटो मिले हालाँकि, इनमें से किसी भी चित्र में भारतीय ध्वज तिरंगा नहीं था जैसा कि वायरल तस्वीर में देखा गया है।

प्रदर्शनकारियों का विरोध हुआ तेज बोले- गिलगित बाल्टिस्तान पाकिस्तान का हिस्सा नहीं

जानिए कब की है ये तस्‍वीर

जानिए कब की है ये तस्‍वीर

19 अक्टूबर को पाकिस्‍तान के "डॉन" अखबार द्वारा एक लेख में सामूहिक रैली की एक समान छवि बनाई गई थी, जिसका शीर्षक था: 'कराची में पीडीएम के पावर शो में मरियम ने पीएम इमरान से कहा कि सेना अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए इस्तेमाल करना बंद करें।' रिपोर्ट के मुताबिक, तस्वीर पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) द्वारा आयोजित कराची में एक बड़ी सभा की है, जिसमें 11 विपक्षी दलों का गठबंधन शामिल था। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह सभा 18 अक्टूबर को आयोजित की गई थी, जिसमें हजारों लोगों ने भाग लिया था। "डॉन" द्वारा ली गई रैली फोटो के साथ वायरल छवि के साथ काफी करीब से तुलना की और मूल छवि में तिरंगा गायब पाया गया।

ये है ओरिजनल फोटो

 रैली में मौजूद पाकिस्‍तानी पत्रकार ने बताई ये बात

रैली में मौजूद पाकिस्‍तानी पत्रकार ने बताई ये बात

रिपोर्ट के अनुसार इसी तरह की तस्वीरें कई भारतीय मीडिया समूहों द्वारा भी ली गईं और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज़) के सत्यापित फेसबुक पेज पर अपलोड की गई हैं। हालाँकि इनमें से किसी भी फोटो में तिरंगा नहीं मिला। इसके अलावा, किसी मीडिया रिपोर्ट ने नहीं कहा कि 18 अक्टूबर को कराची में एक भारतीय झंडा लहराया गया था। कई भारतीय मीडिया हाउसों ने रैली के वीडियो प्रकाशित किए थे। कराची के पत्रकार तौसीफ रजा मलिक जिन्‍होंने बाग-ए-जिन्नाह पर विरोध रैली को कवर कर रहे थे उन्‍होंने भी पुष्टि की कि उक्‍त रैली में कोई भी भारतीय झंडा नहीं उठाया गया था। "18 अक्टूबर को, मैं रैली की रिपोर्टिंग करने वाले स्थल पर था।

कैंसर से जंग जीतने के बाद संजय दत्‍त ने लिखा ये पहला इमोशन पोस्‍ट, फैंस को कहा शुक्रिया

Fact Check

दावा

कराची में पाक राजनीतिक रैली में फहराया गया तिरंगा

नतीजा

दावा गलत है कराची में रैली में नहीं फहराया गया है तिरंगा

Rating

False
फैक्ट चेक करने के लिए हमें factcheck@one.in पर मेल करें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Did the tricolor be waved at the political rally of Pak PM Imran's opponents in Karachi, know the truth
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X