• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Kundali: जीवन को भ्रम में डाल देता भ्रांति दोष

By Pt. Gajendra Sharma
|

नई दिल्ली। क्या आपको कभी ये महसूस हुआ है कि आप जो कोई भी निर्णय लेते हैं, उसके पूरे होने में आपके ही मन में संदेह रहता है? क्या आपको लगता है कि आप भ्रम की स्थिति में है? क्या आपको लगता है कि लोग आपकी हंसी उड़ाते हैं? क्या आपको लगता है कि लोग पीठ पीछे आपकी बुराई करते हैं? क्या आपको लगता है कि सब आपके दुश्मन हैं? क्या आपको लगता है कि आप अकेले हैं और कोई आपका साथ नहीं देता? ऐसे ही और भी अनेक संदेह यदि आपके मन में बार-बार लगातार आते रहते हैं तो इसका कारण आपके हाथ में बना भ्रांति दोष हो सकता है।

 भ्रांति दोष हस्तरेखा शास्त्र में एक ऐसा शक्तिशाली दोष माना गया है

भ्रांति दोष हस्तरेखा शास्त्र में एक ऐसा शक्तिशाली दोष माना गया है

जी हां, भ्रांति दोष हस्तरेखा शास्त्र में एक ऐसा शक्तिशाली दोष माना गया है जो व्यक्ति का पूरा जीवन तहस-नहस करके रख देता है। जिस व्यक्ति के हाथ में भ्रांति दोष होता है उस व्यक्ति का न केवल दूसरों पर से बल्कि स्वयं पर से भी भरोसा उठ जाता है। ऐसा व्यक्ति हमेशा डर और संदेह के साये में जीवन बिताता है। आइए जानते हैं यह दोष बनता कैसे है, इसके प्रभाव क्या होते हैं और इसका प्रभाव कम करने के क्या उपाय हो सकते हैं।

यह पढ़ें: Success Mantra: उपदेश देने से पहले स्वयं अपनाएं

कैसे बनता है भ्रांति दोष

कैसे बनता है भ्रांति दोष

हस्तरेखा शास्त्र में राहु और चंद्र की युति से भ्रांति दोष बनता है। हथेली में राहु का स्थान बिलकुल बीच में होता है। यानी यह स्थान मोटे तौर पर जीवन रेखा के ऊपर और मस्तिष्क रेखा के नीचे माना जाता है, हथेली के बिलकुल सेंटर में। चंद्र पर्वत कनिष्ठिका अंगुली के नीचे जहां से बुध पर्वत समाप्त होता है वहां से लेकर मणिबंध तक बाहरी स्थान चंद्र पर्वत कहलाता है। जब राहु पर्वत काफी उभरा हुआ हो और इसका झुकाव चंद्र पर्वत की ओर अधिक हो, साथ ही चंद्र पर्वत पर डबल क्रॉस का चिन्ह हो और राहु पर्वत से निकलकर कोई रेखा चंद्र पर्वत तक इस दोनों क्रॉस के चिन्ह तक पहुंचती हो तो भ्रांति दोष का निर्माण होता है।

भ्रांति दोष का प्रभाव

भ्रांति दोष का प्रभाव

  • यह दोष हस्तरेखा शास्त्र का एक ऐसा दोष है जो जिस व्यक्ति के हाथ में होता है उसका पूरा जीवन अस्त-व्यस्त सा रहता है।
  • ऐसे व्यक्ति में आत्मविश्वास की अत्यंत कमी होती है। यह जो भी काम करता है उसमें इसे खुद ही संदेह बना रहता है।
  • ऐसे व्यक्ति को हमेशा लगता रहता है कि यह अकेला है और कोई इसका साथ नहीं देता।
  • ऐसे व्यक्ति को स्वयं की असफलता का डर हमेशा सताता रहता है। इस कारण वह डिप्रेशन में जा सकता है।
  • ऐसे व्यक्ति को हमेशा यह लगता है कि हर व्यक्ति उसके कामों की हंसी उड़ाता है।
  • ऐसे व्यक्ति को लगता रहता है कि यह जो भी काम करेगा उसे दूसरे लोग बिगाड़ देंगे।
  • इस कारण यह व्यक्ति कोई भी काम ठीक से नहीं कर पाता है।
  • भ्रांति दोष कम करने के उपाय
  • जिस व्यक्ति की हथेली में भ्रांति दोष होता है उसे राहु की शांति और चंद्र की मजबूती के उपाय करना चाहिए।
  • राहु की शांति के लिए राहु के मंत्रों का जाप और हनुमानजी की आराधना लाभकारी होती है।
  • चंद्र की मजबूती के लिए चांदी का कड़ा दाहिने हाथ में धारण करें। पूर्णिमा का व्रत करें। चांदी के गिलास में पानी पीएं।

यह पढ़ें: अच्छी संगत से निखरते हैं गुण, यही है सफलता का बड़ा राज

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Read some facts about Branti Dosh, its really Important because lots of confusion about this.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X