Diwali 2017: करोड़पति बनना है तो इस दिवाली जरूर खरीदें झाड़ू

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। कहते हैं कि स्वच्छता की शुरूआत झाड़ू से ही होती है और मां लक्ष्मी का आगमन वहीं होता है जहां होती है स्वच्छता। अतः झाड़ू एक ऐसा यन्त्र है, जिसका अच्छे ढंग से प्रयोग करके घर की दरिद्रता को मिटाकर सुख व समृद्धि को लाया जा सकता है इसलिए इस दिवाली पर एक झाड़ू जरूर खरीदें, जिससे आपके घर पर हमेशा मां लक्ष्मी का वास बना रहे।

 करोड़पति बनना है तो इस दिवाली जरूर खरीदें झाड़ू

चलिए जानते है कि झाड़ू का प्रयोग कब कैसे और कंहा करना चाहिए, जिससे मां लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहे....

  • झाड़ू कभी भी घर के मुख्यद्वार पर नहीं होनी चाहिए, इससे भवन में नकारात्मक उर्जा प्रवेश होती है।
  • झाड़ू को हमेशा ढककर रखना चाहिए।
  • भोजन कक्ष में झाड़ू नहीं रखनी चाहिए क्योंकि ऐसा करने से घर में दरिद्रता आती है।
  • झाड़ू को दिन में छुपाकर रखना चाहिए और रात्रि में मुख्यद्वार के सामने रखने से कोई भी नकारात्मक चीज घर में प्रवेश नहीं कर पाती है।
  • घर के लिए 3 झाड़ू एक साथ खरीदना चाहिए।
  • मान्यता है कि गुरूवार के दिन घर में पोंछा नहीं लगाना चाहिए। ऐसा करने से लक्ष्मी जी रूठ जाती है।
  • पोंछा लागाते समय पानी में थोड़ा नमक डाल लेना चाहिए। इससे घर की नकारात्मक उर्जा गायब हो जाती है।
  • झाड़ू भूलकर भी अपने बेडरूम में रखें अन्यथा पति-पत्नी में तनाव की स्थिति बनी रहती है।
  • झाड़ू को कभी भी खड़ा करके नहीं रखना चाहिए क्योंकि इसे अपशकुन माना जाता है।
  • किसी व्यक्ति अथवा जानवर को कभी झाड़ू नहीं मारनी चाहिए। ऐसा करना अपशकुन की श्रेणी में आता है।
  • झाड़ू पर भूलकर भी पैर नहीं रखना चाहिए क्योंकि इससे मॉ लक्ष्मी नाराज होती है।
  • यदि घर का मुखिया किसी खास प्रयोजन से निकले तो उसके तुरन्त बाद घर में झाड़ू नहीं लगानी चाहिए। ऐसा करने से बनता काम भी बिगड़ जाता है।
  • भवन में सूर्यास्त के बाद झाड़ू-पोंछा लगाना अशुभ माना जाता है।
  • टूटी हुई झाड़ू से घर की साफ-सफाई नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे घर में दारिद्रता आती है।
  • Read Also Diwali 2017: जानिए लक्ष्मी-गणेश पूजा का मुहूर्त और समय
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Buying broom is good option to please lakshmi on this Diwali 2017, here is full reason.
Please Wait while comments are loading...