• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Religion: विभिन्न प्रकार के पुष्पों से मिलने वाले फल

By Pt. Anuj K Shukla
|

लखनऊ। पुष्पों को सम्मान, श्रद्धा, श्रंगार, सौन्दर्य, दिल की अभिव्यक्ति व प्रेम का प्रतीक माना जाता है। पुष्पों की सुगंध मात्र से ही मन आल्हादित व प्रफुल्लित हो जाता है। इसके सभी अवयव उपयोगी होते हैं, बर्शेते यथाविधि प्रयुक्त हो। ये शरीर को सौन्दर्य व शोभायान, कांतिवर्धक व श्रीवृद्धि के साथ रोगनाशक भी होते हैं। इसकी उपचार प्रणाली को एरोमा थेरेपी कहते हैं, जो जन्म से मृत्यु पर्यन्त प्रत्येक अवसर पर उपयोग होती है। तन्त्र-मंन्त्र-यन्त्र औषधि में पृथक्-पृथक रंग व गंध के कारण ये पुष्प अपना विशिष्ट स्थान प्राप्त करते हैं।

आइए जानते है पुष्पों से मिलने वाले फायदे...

कमल के पुष्प व लक्ष्मी जी का बहुत ही घनिष्ठ सम्बन्ध है

कमल के पुष्प व लक्ष्मी जी का बहुत ही घनिष्ठ सम्बन्ध है

कमल के पुष्प व लक्ष्मी जी का बहुत ही घनिष्ठ सम्बन्ध है, कमल सृष्टि वृद्धि का द्योतक है, तभी विष्णु से घनिष्ठ संबन्ध है व विष्णु का पोषक माना है। इसके पराग से शहद व फूलों से गुलकंद बनता है। यह पुष्पों में सौन्दर्यता का पर्याय है। प्रायः सभी सुगंधित पुष्प लताओं व वृक्षों पर लगते हैं, परन्तु प्रकृति प्रदत्त वनस्पति जगत की सबसे सुंदर देन कमल जल में पैदा होता हैं व जलजों में सर्व श्रेष्ठ भारतीय कला संस्कृत आध्यात्म में बहुचर्चित है। लक्ष्मी की उत्पति इसी से हुई थी। अतः लक्ष्मी व विष्णु को ये अति प्रिय हैं।

यह भी पढ़ें: जानिए किस भगवान को कौन से पुष्प चढ़ाने चाहिए?

सौभाग्य व समृद्धि

सौभाग्य व समृद्धि

  • समृद्धिकारक-कमल पुष्प जहां होगा वहां लक्ष्मी अवश्य वास करती हैं। लक्ष्मी पूजन में कमल पुष्प चढ़ाने से सौभाग्य व समृद्धि मिलती है। लक्ष्मी देवी की स्तुति या मन्त्र जाप कमलगटटे की माला से किया जाए तो शीघ्र फलदायी होता है।
  • कब्ज निवारण-कमल पुष्प का गुलकंद लगातार सेंवन करने से कब्ज दूर हो जाता है।
  • बल व ओज वृद्धि-इसके अंदर हरे रंग के कच्चे दाने छीलकर खाने से ओज व बल में वृद्धि होती है। इसकी पंखुड़ियों को पीसकर उबटन लगाने से चेहरा कांतिमय हो जाता है।
  • इच्छित कामना हेतु-गुड़हल के 109 फूलों की माला लाल धागे में पिरोकर बना लें। अब इस माला को शेर पर सवार दुर्गा जी की प्रतिमा के गले में पहना दें, हाथ जोड़कर अपनी कामना करने से शीघ्र फल मिलता है।
  • धन लाभ के लिए

    धन लाभ के लिए

    • पति वशीकरण हेतु-मालती के फूलों को सरसों के तेल में डालकर पका लें। उस तेल को गुप्तांग में लगाकर मैथुन करने से पति को वश में कर सकती है।
    • वरदान प्राप्ति हेतु-गणपति को लाल कनेर के पुष्प् चढ़ाने से वांछित फल प्रापत होती है।
    • धन लाभ हेतु-घर से बाहर निकलते समय दाहिना पाॅव पहले बाहर निकालें। दो पीले पुष्प माॅ लक्ष्मी को चढ़ा देने से धन के कार्य हेतु जाने से सफलता मिलती है।
    • प्रेम पाने हेतु-यदि प्रेमी-प्रेमिका में मनमुटाव हो तो एक गुलाब का पुष्प लेकर प्रेमी का नाम लेकर म नही मन आकर्षण की भावना की प्रार्थना करते हुए परस्पर एक-दूसरे भेंट करने से मनमुटाव समाप्त होकर आपसी प्रेम में वृद्धि होती है।
    • अप्रत्याशित परिणाम हेतु-किसी खास काम में जाते समय भगवान के फूल चढ़ायें व जाते वक्त अपनी जेब में रखकर काम पर जायें।
    • आकस्मिक धन लाभ-11 सफेद पुष्प लेकर प्रातःकाल चैराहे के मध्य पूरब की ओर मुख करके रखें व शुक्रवार के दिन चैराहे पर मध्य में इत्र डालकर शीशी वहीं छोड़कर वापस चले आयें।

यह भी पढ़ें: काल भैरव जयंती 29 नवंबर को, शत्रुओं पर विजय और दुर्घटना से रक्षा के लिए करें काल भैरव की पूजा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Certain specific flowers are sacred to a particular Hindu gods. The rituals followed while worshiping a particular god are not complete without offering the god's favorite flower.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X