• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

उत्तराखंड में इस मुद्दे पर भाजपा, कांग्रेस की है एक राय, जानिए क्या है मामला

|
Google Oneindia News

देहरादून, 25 नवंबर। उत्तराखंड में भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों के बीच ही ज्यादा कड़ा मुकाबला माना जा रहा है। भाजपा, कांग्रेस ने भी चुनाव जीतने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। इसके लिए दोनों दल घोषणा पत्र बनाने के लिए जनता के द्वार पर जा रहे हैं। कांग्रेस जहां न्याय पंचायतों से मुद्दे इकट्टा करने के बाद अब मिस कॉल के जरिए जनता से जुड़ रही है, वहीं भाजपा ने 70 विधानसभा सीटों पर सुझाव पेटी ले जाकर जनता के सुझाव से घोषणा पत्र बनाने की बात की है। इस तरह दोनों दल जनता की राय पर घोषणा पत्र बनाने की बात कर रही है।

 BJP, Congress have an opinion on this issue in Uttarakhand, know what is the matter

घोषणा पत्र को लेकर शुरू हुई कसरत
उत्तराखंड में चुनाव में जाने से पहले भाजपा, कांग्रेस ने घोषणा पत्र को लेकर होमवर्क शुरू कर दिया है। किसी भी दल का घोषणा पत्र सरकार का आईना होता है। जो कि सरकार की प्राथमिकताएं तय करता है। ऐसे में घोषणा पत्र को लेकर दल ज्यादा मंथन पर जोर देते हैं। सत्ता में दोबारा काबिज होने के लिए भाजपा ने 2022 के चुनाव घोषणा पत्र को लेकर कसरत शुरू कर दी है। घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को घोषणा पत्र समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। जो कि घोषणा पत्र को दृष्टि पत्र बता रहे हैं। घोषणा पत्र समिति के सदस्य सभी सांगठनिक जिलों में जाकर प्रमुख मुद्दों का फीडबैक लेंगे। साथ ही सभी जिलों में भी घोषणा पत्र समितियां बनाई जाएंगी। इसके लिए सभी 70 विधानसभाओं में भाजपा ने सुझाव पेटी भी लगाने का निर्णय लिया है। जो ​2 दिनों तक विधानसभाओं में कार्यकर्ताओं, जतना से सुझाव लेंगें। इसके बाद सुझावों को एकत्रित करके एक राय वाले मुद्दों को घोषणा पत्र में शामिल किया जाएगा। अब तक भाजपा रोजगार, महिलाओं और शिक्षा को लेकर किए गए सरकार के कार्यों को आधार बनाने की रणनीति पर काम कर रही है।
कांग्रेस पहले ही कर चुकी थी ऐलान
भाजपा से पहले कांग्रेस भी घोषणा पत्र को जनता से जोड़कर बनाने की बात कर चुकी है। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र को प्रतिज्ञापत्र नाम दिया है। जिसे आम आदमी से जोड़कर बनाने की बात की जा रही है। कांग्रेस ने महंगाई, रोजगार जैसे बड़े मुद्दों को इसमें शामिल करने की बात की है। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने कहा है कि कांग्रेस ने 670 न्याय पंचायतों में जाकर जन समस्याओं को जानने की कोशिश की। इस दौरान कांग्रेस के सामने महंगाई और बेरोजगारी जैसे बड़े मुद्दे सामने आए हैं। देवेंद्र यादव ने कहा कि कांग्रेस का घोषणापत्र प्रतिज्ञापत्र की तरह होगा। इसे तैयार करने के लिए जनता से रायशुमारी की जाएगी। इसके लिए पार्टी टोल फ्री नंबर जारी कर रही है। इस पर प्रदेश के लोग अपनी राय दे सकते हैं। टोल फ्री नंबर के माध्यम से जो भी सुझाव आएंगे, उन्हें कांग्रेस नेतृत्व तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अपने विचार और मुद्दों को प्रतिक्षापत्र में शामिल करवाने के लिए 1800212000055 पर कॉल कर सकते हैं। या 1800123000055 पर मिस कॉल कर सकते हैं। इसके अलावा 9099283377 पर व्हाट्सएप के माध्यम से अपने सुझाव दे सकते हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि अंतिम छोर के व्यक्ति के सुझाव कांग्रेस नेतृत्व के पास पहुंच सके, इसके लिए इस नंबर को जारी किया गया है।

ये भी पढ़ें-नए जिले की मांग कर रहे आंदोलनकारियों को समर्थन देकर पूर्व सीएम हरीश रावत ने गमाई सियासत, जानिए पूरा मामलाये भी पढ़ें-नए जिले की मांग कर रहे आंदोलनकारियों को समर्थन देकर पूर्व सीएम हरीश रावत ने गमाई सियासत, जानिए पूरा मामला

English summary
BJP, Congress have an opinion on this issue in Uttarakhand, know what is the matter
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X