• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

अंकिता भंडारी केस : रिजॉर्ट में क्यों महीने भर भी नहीं टिक पाता था कोई स्टाफ ? पुराने कर्मचारी खोल रहे पोल

अंकिता हत्याकांड: एसआईटी के हाथ रिजॉर्ट में लगे अहम साक्ष्य
Google Oneindia News

देहरादून, 28 सितंबर। अंकिता हत्याकांड में जांच कर रही एसआईटी टीम के हाथ रिजॉर्ट में कई अहम साक्ष्य हाथ लगने का दावा किया जा रहा है, इसके साथ ही रिजॉर्ट में काम करने वाले कर्मचारी और इसमें पहले काम कर चुके कर्मचारियों के बयान इस मामले में पुलिस के लिए अहम एविडेंस साबित होंगे।

रिजॉर्ट के नाम पर अय्याशी का अड्डा

रिजॉर्ट के नाम पर अय्याशी का अड्डा

इस बीच अब तक सामने आए बयानों से ये बात साफ हो चुकी है कि रिजॉर्ट के नाम पर वनंतरा में अय्याशी का अड्डा बना हुआ था। जिस वजह से यहां कोई भी स्टाफ खासकर फीमेल स्टाफ टिकता नहीं था। ऐसे में अंकिता भी 22 दिन इस रिजॉर्ट में काम कर पाई। ये बात अलग है कि अंकिता दूसरे फीमेल स्टाफ की तरह यहां से निकलकर अपनी जान नहीं बचा पाई।

 स्टाफ और इससे पूर्व काम कर चुके कर्मचारियों के बयान सबसे अहम

स्टाफ और इससे पूर्व काम कर चुके कर्मचारियों के बयान सबसे अहम

अंकिता हत्याकांड की जांच कर एसआईटी वनंतरा रिजॉर्ट में अहम साक्ष्यों को इकट्ठा कर रही है। टीम का दावा है कि हत्याकांड से जुड़े अहम एविडेंस उनके पास हैं। लेकिन इस पूरे मामले में सबसे अहम मानी जा रही है। अंकिता के दोस्त, रिजॉर्ट में काम करने वाले स्टाफ और इससे पूर्व काम कर चुके कर्मचारियों के बयान जो कि रिजॉर्ट में चल रही गतिविधियों को सामने रखेंगे। मीडिया में दिए गए बयानों और कर्मचारियों की अब तक की सामने आई बातों से ये साफ कि रिजॉर्ट को अय्याशी का अड्डे के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। इसी वजह से यहां कोई कर्मचारी ज्यादा नहीं टिकता था।

अंकिता की ना की वजह से उसे अपनी जान गंवानी पड़ी

अंकिता की ना की वजह से उसे अपनी जान गंवानी पड़ी

अंकिता की चैट से भी ये बात सामने आई कि इस रिजॉर्ट में हर वो गंदे काम हो रहे थे, जो कि नहीं होने चाहिए। जब रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य ने अपने इस काले धंधे में अंकिता को घसीटना चाहा तो वो सफल नहीं हो पाया। लेकिन अंकिता की ना की वजह से उसे अपनी जान गंवानी पड़ी। इससे पहले दो महिला स्टाफ अब तक पुलिस या मीडिया को अपने बयान दे चुके हैं जो कि कुछ माह में ही इस रिजॉर्ट की नौकरी छोड़कर चले गए। जिस युवती का अंकिता से पहले गायब होने की बात सामने आई थी, वह पुलिस को अपना बयान दे चुकी है।

अंकित गुप्ता और पुलकित आर्य, लड़कियों के साथ दुर्व्यवहार करते थे

अंकित गुप्ता और पुलकित आर्य, लड़कियों के साथ दुर्व्यवहार करते थे

युवती ने बताया कि वह एक माह से पहले ही रिजॉर्ट की नौकरी छोड़ कर चली गई थी। इसी तरह वनंतरा रिजॉर्ट में काम कर चुकी मेरठ की एक महिला ने बताया कि अंकित गुप्ता और पुलकित आर्य की हरकतों की वजह से वह रिजॉर्ट में महज 2 महीने की काम कर सकी थी। महिला का कहना है कि दोनों लड़कियों के साथ दुर्व्यवहार करते थे। वे लड़कियों को लाते थे, वीआईपी भी यहां आते थे।

स्टाफ कर रहे खुलासे

स्टाफ कर रहे खुलासे

महिला ने मीडिया में दिए बयान में ये भी बताया कि रिजॉर्ट में नशा और स्पेशल सर्विस दोनों प्रोवाइड कराई जाती थी। जिसमें मालिक पुलकित भी शामिल होता था। वह बाहर से आने वाले लोगों के साथ घुल मिल जाता था। इस तरह के खुलासे रिजॉर्ट में काम कर चुके स्टाफ और वर्तमान में काम कर रहे स्टाफ भी मीडिया से बातचीत में खोल रहे हैं। ऐसे में ये भी माना जा रहा है कि जो आरोपियों की बात मान लेता वो रिजॉर्ट में कुछ माह टिक जाते जो नहीं मानते वो यहां से निकल जाते थे।

ये भी पढ़ें- मेधावी छात्रा 12वीं में स्कूल टॉपर, लेकिन बिना पहली सैलरी लिए ही छोड़ गई दुनिया, ये है अंकिता की दर्दनाक कहानीये भी पढ़ें- मेधावी छात्रा 12वीं में स्कूल टॉपर, लेकिन बिना पहली सैलरी लिए ही छोड़ गई दुनिया, ये है अंकिता की दर्दनाक कहानी

Comments
English summary
Ankita Bhandari Case: Why was no staff able to stay in the resort even for a month? Old employees are opening pole Vanantara
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X