• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

योग दिवस को ऐतिहासिक बनाने के लिए योगी सरकार ने बनाया मास्टर प्लान, जानिए कैसे जुड़ेंगे 3.50 करोड़ लोग

Google Oneindia News

लखनऊ, 17 जून: अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के कार्यक्रमों को प्रदेश में व्यापक जनसहभागिता के साथ सम्पन्न कराने की कवायद शुरू कर दी गई है। इस वर्ष 8वें अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम 'मानवता के लिए योग' निर्धारित की गई है। योगी ने कार्यक्रमों का व्यापक प्रचार-प्रसार कराए जाने के निर्देश भी दिये हैं। आजादी के अमृत वर्ष में आयोजित हो रहे अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रदेश में 75,000 स्थानों पर सामूहिक योगाभ्यास का आयोजन कराया जाएगा। अधिकारियों का दावा है कि सभी 58,000 ग्राम पंचायत, 14,000 नगरीय वॉर्ड के लोग कार्यक्रम से जुड़ेंगे। इस प्रकार पूरे प्रदेश में 3.50 करोड़ लोगों को योग से जोड़ने का लक्ष्य लेकर वृहद कार्यक्रम आयोजित किया जाए।

योग दिवस पर कार्यक्रमों का होगा लाइव टेलीकॉस्ट

योग दिवस पर कार्यक्रमों का होगा लाइव टेलीकॉस्ट

लाइव टेलीकास्ट की सुविधा भी उपलब्ध कराई जानी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि योग, भारतीय मनीषा द्वारा विश्व को प्रदान किया गया वह अमूल्य उपहार है जो शरीर और मन दोनों को स्वस्थ रखता है। हमारी ऋषि परम्परा के इस प्रसाद से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूरी दुनिया को लाभान्वित कराया है। आजादी के अमृत वर्ष में प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर देश के 75 ऐतिहासिक स्थलों पर सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

यूपी के इन 6 प्रमुख स्थलों पर होगा कार्यक्रमों का आयोजन

यूपी के इन 6 प्रमुख स्थलों पर होगा कार्यक्रमों का आयोजन

इन स्थलों में उत्तर प्रदेश के 6 प्रमुख स्थल सम्मिलित किये गए हैं। भारत सरकार द्वारा चयनित प्रदेश के 06 स्थलों-सारनाथ (वाराणसी), रेजीडेंसी (लखनऊ), अयोध्या, कुशीनगर, फतेहपुर सीकरी (आगरा) और हस्तिनापुर (मेरठ) में वृहद आयोजन की तैयारी की जाए। इन कार्यक्रमों में केन्द्र सरकार के मंत्रीगण प्रतिभाग करेंगे। इसके अलावा अन्य महत्वपूर्ण स्थलों यथा राजभवन (लखनऊ), त्रिवेणी संगम (प्रयागराज), झाँसी किला, मथुरा, मां विंध्यवासिनी धाम परिसर, श्री गोरखनाथ मंदिर परिसर गोरखपुर, नैमिषारण्य (सीतापुर), श्री काशी विश्वनाथ धाम परिसर (वाराणसी), बिठूर (कानपुर), चित्रकूट, श्रावस्ती और अक्षय वट वाटिका (मुजफ्फरनगर) में भी सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम का आयोजन कराया जाए।

अपने प्रभार वाले मंडल में मंत्री रहेंगे मौजूद

अपने प्रभार वाले मंडल में मंत्री रहेंगे मौजूद

योग दिवस के इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम से आमजन स्वतः स्फूर्त भाव से जुड़ें, इसके लिए सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं का सहयोग लिया जाना चाहिये। प्रत्येक जनपद में एक मुख्य कार्यक्रम आयोजित किया जाए। मंत्री अपने प्रभार वाले मण्डल के किसी जनपद में प्रतिभाग करेंगे। कुछ जिलों में केन्द्र सरकार के मंत्रियों की उपस्थिति होगी। जहां मंत्रियों की उपस्थिति नहीं हो सकेगी, वहां नोडल अधिकारी प्रतिभाग करेंगे। स्थानीय जनप्रतिनिधियों को कार्यक्रमों से जोड़ा जाए।

कार्यक्रमों के सफल आयोजन के लिए मिलेंगे योग प्रशिक्षक

कार्यक्रमों के सफल आयोजन के लिए मिलेंगे योग प्रशिक्षक

योगाभ्यास कार्यक्रमों के सफल आयोजन के लिए योग प्रशिक्षक भी उपलब्ध कराए जाएं। मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया कि ग्राम्य विकास तथा नगर विकास विभाग द्वारा योगाभ्यास के लिए प्रस्तावित स्थलों, पार्कों आदि की साफ-सफाई करा ली जाए। स्वास्थ्य विभाग द्वारा आवश्यकतानुसार कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। एन0सी0सी0 कैडेट, स्काउट एण्ड गाइड तथा एन0एस0एस0 स्वयंसेवकों सहित विद्यार्थियों को योग दिवस से जोड़ा जाना चाहिए। कार्यक्रम की सुरक्षा के दृष्टिगत पुलिस बल द्वारा सतत् पेट्रोलिंग की जानी चाहिए। उन्होंने पुलिस लाइन्स में भी योगाभ्यास कार्यक्रम का आयोजन कराने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें-2022 के बहाने 2024 पर निगाहें! वाराणसी से लड़कर मोदी बने थे पीएम, अब अयोध्या से है योगी की वही तैयारी?यह भी पढ़ें-2022 के बहाने 2024 पर निगाहें! वाराणसी से लड़कर मोदी बने थे पीएम, अब अयोध्या से है योगी की वही तैयारी?

Comments
English summary
Yogi government made a master plan to make Yoga Day historic
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X