मतभेद बर्दाश्त नहीं, संघ ने लगाई सीएम योगी की क्लास, दिए कई सुझाव

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। यूपी की योगी सरकार के नौ महीने पूरे होने के बाद मंगलवार को बीजेपी और आरएसएस की बैठक लखनऊ में हुई। इस बैठक में संघ ने साफ कह दिया है कि सरकार और पार्टी में मतभेद ठीक नही है। संघ ने अधिकारियों की मनमानी पर यूपी सरकार की क्लास लगाई है। देर रात तक चली इस समन्वय बैठक में संगठन और सरकार में होने वाले बदलावों को लेकर भी चर्चा हुई। आरएसएस की तरफ से बीजेपी संगठन और योगी सरकार दोनों को कई सलाह दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक

मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक

मुख्यमंत्री आवास, 5 कालिदास मार्ग पर हुई समन्वय बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ केअलावा दोनों उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य और दिनेश शर्मा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडे उत्तर प्रदेश के बीजेपी संगठन प्रभारी, सुनील बंसल, आरएसएस की तरफ से कृष्ण गोपाल मौजूद थे साथ ही लगभग आधा दर्जन लोग संगठन आरएसएस और सरकार की तरफ से बैठक में मौजूद थे। संघ और बीजेपी के बीच समन्वय बैठक में फैसला हुआ कि जल्द ही पार्टी संगठन और सरकार में बड़े बदलाव होंगे।

संगठन में युवा मोर्चा, महिला मोर्चा सहित खाली पड़े सभी पदों को भरा जाएगा

संगठन में युवा मोर्चा, महिला मोर्चा सहित खाली पड़े सभी पदों को भरा जाएगा

मकर संक्रांति के बाद पार्टी संगठन में युवा मोर्चा, महिला मोर्चा सहित खाली पड़े सभी पद भरे जाने का निर्देश दिया गया है। संघ ने समन्वय बैठक में पार्टी और सरकार के उन मतभेदों पर चिंता जाहिर की है. जो सार्वजिनिक हो रहे हैं। संघ ने गंभीरता से लेते हुए सख्त लहजे में कहा कि संगठन और सरकार में किसी तरह के मतभेद सार्वजनिक रूप से सामने नहीं आने चाहिए।

मंत्रिमंडल के संभावित फेरबदल पर भी चर्चा

मंत्रिमंडल के संभावित फेरबदल पर भी चर्चा

बैठक में मंत्रिमंडल के संभावित फेरबदल पर भी चर्चा हुई है। हालांकि किसी मंत्री के कामकाज को लेकर सीधी चर्चा नहीं हुई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई मंत्रियों के कामकाज से संतुष्ट नहीं हैं। इसके साथ ही उनके कैबिनेट में अभी 13 मंत्री पद खाली हैं ऐसे में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चा हुई जिसमें कुछ मंत्रियों के प्रभार भी बदले जा सकते हैं। संघ ने अपनी तरफ से सभी कल्याणकारी योजनाओं को जल्द से जल्द आम लोगों तक पहुंचाने की बात कही है

 2019 की लोकसभा चुनाव पर नजर

2019 की लोकसभा चुनाव पर नजर

आरएसएस 2019 की लोकसभा चुनाव की जीत के लिए निकाय चुनाव के परिणाम को पर्याप्त नहीं मानती है और मिशन 2019 के प्लान यूपी तैयार कर रही है। बता दें, कि संघ यूपी की जीत को लेकर गंभीर है और वह चाहती है कि 2019 में यूपी से 70 से 80 सीटें जीतें। जिस से पीएम नरेन्द्र मोदी की कुर्सी बरकरार रहे। यही कारण हैं की संघ सरकार और संगठक के कामकाज की समीक्षा करती रहती है। जिससे 2019 का लोकसभा भारी सीटों के साथ जीत सके।

Aadhar के लिए टू लेयर सिक्योरिटी, UIDAI जारी करेगा वर्चुअल ID

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Yogi adityanath meets RSS leaders ahead of likely changes in cabinet
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.