नशे में धुत सिपाही ने प्रेमी जोड़ों से मांगे पैसे, लोगों ने की जमकर पिटाई

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। शहर के सबसे प्रसिद्ध घाट, दश्ववमेघ पर लोगों ने एक पुलिसवाले की जमकर पिटाई करना शुरू कर दिया और उसके गले में गमछा डालकर थाने तक पैदल ही घसीटते ले गए। आरोप है कि यह सिपाही घाट पर बैठे प्रेमी जोड़ों और महिलाओं से पैसों की मांग कर रहा था। महिलाओं ने जब इसका विरोध किया तो अश्लील कमेंट करने लगा। पुलिसवाले की इस हरकत से नाराज लोगों ने इसकी पिटाई करनी शुरू कर दी और फिर घसीटते हुए पुलिस स्टेशन ले गए। इसी बीच किसी शख्स ने इसका वीडियो बना लिया।

क्या कहते है प्रत्यक्षदर्शी ?

क्या कहते है प्रत्यक्षदर्शी ?

घाट पर फूल बेचने मुन्नू का कहना है कि सिपाही ने लोगों से पैसा मांगा और एक कपल से छेड़खानी की। महिला पर अश्लील कमेंट किए। सभी ने मिलकर विरोध किया और थाने तक उसे घसीटते ले गए। स्थानीय निवासी रामू ने बताया, 'सिपाही की रोज की आदत है, जो भी कपल यहां आकर बैठता है। उसके परिजनों को बताने की बात कहकर पैसा ऐठता है। सामन बेचने वालों से जबरन वसूली करता है। नाविकों को भी वसूली को लेकर गालियां देता है।

पुलिस कर रही आरोपी सिपाही को बचाने की कोशिश

पुलिस कर रही आरोपी सिपाही को बचाने की कोशिश

एसओ दशाश्मेध राहुल शुक्ला कहना है, ''किसी महिला से छेड़खानी का कंप्लेन नहीं आई है। अभी लिखित रूप से तहरीर नहीं दी गई है, लोगों की ओरली कंप्लेन आई है। जिसपर इनकी भूमिका की जांच चल रही है। बुधवार रात को लोग सिपाही को थाने लेकर आए थे और हल्ला गुल्ला करके चले गए। रही बात नशे की तो मेडीकल के बाद ही खुलासा होगा।

इस घाट पर सबसे ज्यादा सैलानी आते हैं

दरसअल दशाश्वमेघ थाना क्षेत्र में सिपाहियों और पुलिसवालों का ये कोई पहला मामला नहीं हैं। क्योंकि यह घाट वाराणसी का सबसे प्राचीन और प्रसिद्ध घाट हैं ऐसे में बनारस आने वाले सैलानी सबसे ज्यादा इसी घाट पर आते हैं और यह की सूर्योदय शाम की गंगा आरती का आनंद जिससे टूरिजम से जुटे लोगो का व्यापार भी खूब चलता है इसी कारण इस थाने के तैनात सिपाहियों की भी चांदी रहती और जो जम कर वसूली भी करते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Varanasi: policeman demanded money from couple, people beat him
Please Wait while comments are loading...