बुलंदशहर में जीत का जश्न मनाने से मना करने पर गुलावठी में भिड़े दो पक्ष

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बुलंदशहर। नगर पालिका-नगर पंचायत की बुलंदशहर, औरंगाबाद और गुलावठी के लिए बुलंदशहर के डीएवी इंटर व डिग्री कॉलेज में मतगणना हुई। नगर पालिका गुलावठी में अध्यक्ष पद पर काले पहलवान की जीत के जश्न के दौरान बसपा प्रत्याशी के समथर्कों व काले पहलवान के समथर्को के बीच जमकर मारपीट हुई। वहीं, नगर पंचायत की औरंगाबाद सीट पर मतगणना को लेकर विवाद हो गया। जिसके बाद पुलिस ने दोनों पक्षों पर लाठीचार्ज कर मतगणना स्थल से उन्हें खदेड़ दिया। दूसरी तरफ गुलावठी में आरएएफ के जवानों के साथ पहुंचे सीओ ने दोनों गुटों के समथर्कों को लाठियां फटकारकर वहां से खदेड़ दिया।

RAF ने पहुंच कर स्थिति संभाली

RAF ने पहुंच कर स्थिति संभाली

नगर पालिका और नगर पंचायत 17 सीटों पर सुबह 8 बजे से रिजल्ट घोषित होना शुरु हो गया। धीरे-धीरे रिजल्ट आने के साथ-साथ प्रत्याशियों के समर्थकों में बेचनी बढ़ने लगी थी। औरंगाबाद नगर पंचायत सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी अख्तर ने 3769 वोटों से जीत दर्ज कराई। जिसके बाद भाजपा प्रत्याशी के समर्थक विरोध करने लगे। सात प्रत्याशी के समर्थकों ने री-काउंटिंग की मांग की। जिसके बाद औरंगाबाद सीट पर दुबारा से री-काउंटिंग की गई। बता दें कि री-काउंटिंग में भी निर्दलीय प्रत्याशी अख्तर ने 3769 वोटों से जीत दर्ज कराई। वहीं, भाजपा के प्रत्याशी को 3763 वोट ही प्राप्त हो सके। निर्दलीय प्रत्याशी 6 वोटों से जीत गए।

पुलिस पर किया गया पथराव

पुलिस पर किया गया पथराव


पुलिस ने प्रत्याशी के समर्थकों को मतगणना स्थल से हटाने का प्रयास किया। समर्थकों ने पुलिस पर पथराव शुरु कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने भीड़ पर लाठी चार्ज कर दूर तक खदेड़ दिया। मैदान में खड़े काफी लोग इस लाठी चार्ज में चोटील भी हुए। बता दें कि सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष के हाथ में भी चोट आई हैं।

काले पहलवान के समर्थकों ने शुरू किया था जश्न

काले पहलवान के समर्थकों ने शुरू किया था जश्न

वहीं, दूसरी तरफ गुलावठी में काले पहलवान के नगर पालिका अध्यक्ष चुने जाने की खबर गुलावठी में पहुंचते ही समथर्कों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। काले पहलवान के समर्थकों ने देर शाम को ढोल नगाडों के साथ आतिशबाजी छोड़कर मौहल्ले पीरखां में जीत का जश्न बना रहे थे। जश्न के दौरान बसपा प्रत्याशी के समर्थकों के मकान के आगें से जैसे ही ढोल नगाड़े बजते हुए निकले तो उन्होंने मना किया। जिस पर दोनों प्रत्याशियों के समर्थक आपस में भिड़ गए। मामले की जानकारी बसपा प्रत्याशी ने 100 नंबर पर दी। मौके पर सुरक्षा बलों के साथ पहुंचे सीओ राघवेन्द्र मिश्र ने लोगों को लाटियां फटकारकर खदेड़कर दिया।

पुलिस ने दी दूसरी दलील

पुलिस ने दी दूसरी दलील

पालिकाध्यक्ष काले पहलवान ने बताया कि समथर्क जीत की खुशी में जश्न मना रहे थे। घटना के समय आरओ से बुलंदशहर में प्रमाण पत्र ले रहा था। समथर्कों को जीत का जश्न मनाने से मना कर दिया था, लेकिन समर्थक माने नहीं। सीओ सिकंद्राबाद राघवेन्द्र मिश्र ने बताया कि जीत के जश्न पर कानून व्यवस्था के मद्देनजर प्रतिबंध है, विजयी प्रत्याशियों को जीत का जश्न ना बनाने की चेतावनी दी गई है। कानून व्यवस्था बिगाड़ने का प्रयास करने वालों पर सख्त कानूनी कार्रवाई कर कोतवाली प्रभारी को निर्देश दिए गए हैं। कुछ शरारती तत्वों ने माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया था। सुरक्षा की दृष्टि से मौहल्ले में पर्याप्त फोर्स तैनात की गई है। सुरक्षा कारणों से बसपा प्रत्याशी को लाकर कोतवाली में बैठाया गया है।

Read more:UP Civic Polls 2017: बुलंदशहर में बसपा का बजा डंका, अंतर समझिए

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
UP Civic Polls 2017: Two side dispute to refuse victory celebration in Bulandshahr
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.