• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

UP Board Exam 2023 से पहले क्यों है STF की रिपोर्ट का इंतज़ार, जानिए इसकी वजहें

उत्तर प्रदेश में इस बार बोर्ड एग्जाम से पहले एसटीएफ ने ऐसे स्कूलों की एक रिपोर्ट तैयार की है जहां पिछली बार अनियमितताएं पाईं गईं थीं। इस रिपोर्ट में 100 से ज्यादा स्कूलों के नाम शामिल हैं।
Google Oneindia News
योगी आदित्यनाथ

UP Board Exam 2023: उत्तर प्रदेश में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर सरकार ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है। सरकार की नजर उन स्कूलों पर है जहां नकल होने और अनयमितताओं की शिकायतें पिछले साल मिली थी। इनको लेकर स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने एक रिपोर्ट तैयार की है जिसका बेसब्री से इंतजार किया जा रहा है। इस रिपोर्ट के बाद ही यह तय होगा कि किन स्कूलों को परीक्षा कराने का अधिकार मिलेगा किनको नहीं।

एसटीएफ की रिपोर्ट में 100 से ज्यादा स्कूल

शिक्षा विभाग से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आगामी 2023 में कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा आयोजित करने से उन केंद्रों पर रोक लगाया जाएगा जहां प्रतियोगी परीक्षाओं के दौरान अनियमितताएं की गई थीं। इसके लिए, यह विशेष कार्य बल (एसटीएफ) की एक रिपोर्ट पर विचार करेगा, जो ऐसे 140 संस्थानों की सूची तैयार की है।

पहली बार एसटीएफ की रिपोर्ट तैयार होंगे परीक्षा केंद्र

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के अधिकारियों ने कहा कि यह पहली बार भी है जब बोर्ड परीक्षाओं के लिए केंद्रों का निर्धारण करने के लिए एसटीएफ की रिपोर्ट पर विचार किया जाएगा। अब तक, बोर्ड केवल उन केंद्रों पर रोक लगाता था, जो कक्षा 10 और 12 की परीक्षाओं में कदाचार में लिप्त थे। लेकिन, 2023 में पहली बार, किसी भी प्रतियोगी परीक्षा के आयोजन के दौरान विसंगतियां स्कूलों को बोर्ड परीक्षाओं की मेजबानी के लिए अयोग्य घोषित कर देंगी।

रिपोर्ट में कई जिलों के स्कूलों का नाम शामिल

बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ला ने इस कदम की पुष्टि करते हुए कहा, 'एसटीएफ ने करीब 140 संस्थानों की सूची तैयार की है, जहां प्रतियोगी परीक्षाओं में गड़बड़ी की गई थी। इनमें से कुछ संस्थान प्रयागराज, लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, जौनपुर और कानपुर में हैं।

अधिकारियों ने बताया कि एसटीएफ की सूची में उन परीक्षा केंद्रों के नाम हैं, जहां राजस्व लेखापाल व अन्य भर्ती परीक्षाओं के दौरान गड़बड़ी की गयी। डेटा को समेटने के लिए, 2017 से इसी तरह के अपराधों के लिए गिरफ्तार अभियुक्तों के मोबाइल फोन की जानकारी का विश्लेषण किया गया।

इस सूची में 60 से ज्यादा सराकरी स्कूल भी शामिल

इस सूची में 60 से अधिक सरकारी स्कूल हैं, और अन्य डिग्री कॉलेज और सीबीएसई स्कूल हैं। सूची के साथ, घटनाओं के खिलाफ दर्ज एफआईआर और दोषी प्रबंधकों, प्राचार्यों और शिक्षकों के नाम भी बोर्ड के अधिकारियों के साथ साझा किए गए हैं। एसटीएफ की सूची में प्रयागराज के 31 स्कूल शामिल हैं। बोर्ड के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने पुष्टि की, 'परीक्षा समिति की बैठक के बाद इन प्रतिबंधित स्कूलों की सूची इसी महीने जारी की जाएगी।'

यह भी पढ़ें-Rampur Sadar By Election: जानिए आज़म का क़िला ध्वस्त करने के लिए कैसे काम कर रही थी BJPयह भी पढ़ें-Rampur Sadar By Election: जानिए आज़म का क़िला ध्वस्त करने के लिए कैसे काम कर रही थी BJP

Comments
English summary
UP Board Exam 2023: Why wait for STF report,CM Yogi Adityanath News update
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X