ओवैसी ने कहा, अखिलेश जब मुलायम के नहीं हुए तो देश के क्या होंगे

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बहराइच। श्रावस्ती पहुंचे ओवैसी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए अखिलेश सरकार पर तगड़ा हमला बोला। ओवैसी बोले कि जब मुजफ्फरनगर जल रहा था तो अखिलेश यादव ने कुछ नहीं किया और आज जब परिवार जल रहा है तो वह दिन-रात एक कर रहे हैं। रविवार को ऑल इंडिया मजलिसे इत्तिहादुल मुसलमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी एक जनसभा को संबोधित करने के लिए श्रावस्ती पहुंचे थे। उन्होंने मंच पर पहुंचते ही समाजवादी पार्टी में चल रहे गृहयुद्ध का मुद्दा उठा दिया और अखिलेश सरकार पर जमकर हमला बोला।

owaisi ओवैसी ने कहा, अखिलेश जब मुलायम के नहीं हुए तो देश के क्या होंगे
ये भी पढ़ें- अखिलेश-मुलायम के बीच पैचअप में पढ़िए क्या रही आजम की भूमिका?

ओवैसी ने कहा कि जब अखिलेश यादव मुलायम के नहीं हुए तो देश के क्या होंगे। वो हीं नहीं रुके, उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की सरकार कोई सरकार नहीं है, बल्कि एक नाटक कंपनी है। वे बोले कि आजादी के 70 साल के बाद भी हमारा देश गुलाम है। आपको बता दें कि यादव परिवार में काफी समय से कलह चल रही है। इसी के चलते शुक्रवार को मुलायम सिंह ने अखिलेश यादव और रामगोपाल यादव को पार्टी से निकाल दिया था। हालांकि, शनिवार को दोनों को निकाले जाने का फैसला रद्द कर दिया गया।

ये भी पढ़ें- BHIM ऐप को कैसे करते हैं इस्तेमाल, जानिए सिर्फ 8 स्टेप में

इस मौके पर उन्होंने मोदी सरकार को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी कहते हैं अंगूठे का इस्तेमाल करो, हम जाहिल नहीं हैं जो अंगूठे का इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने जनता से पूछा कि मोदी का ब्लैक मनी कहां है? नोटबंदी से हर तबका परेशान है। वे बोले कि अब तक 8 करोड़ लोग बेरोजगार हो गए हैं। गरीबों की मदद करने के बजाए उन्हें गरीब कर दिया। आपको बता दें कि 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा किए जाने के बाद से ही देश में लोग बैंकों और एटीएम की लाइन में लगकर परेशान हो गए। इसी बीच पीएम मोदी ने कहा कि कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा दें और अगूंठे का इस्तेमाल करके आधार के जरिए भुगतान करें। इसी बात को लेकर ओवैसी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
owaisi attack on akhilesh over the family issue
Please Wait while comments are loading...