लखनऊ के दशहरा महोत्सव में पीएम मोदी बोले, कभ्‍ाी-कभी युद्ध भी अनिवार्य हो जाते हैं

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

उत्तर प्रदेश। लखनऊ के ऐशबाग के रामलीला मैदान में दशहरा महोत्सव में पीएम मोदी ने कहा कि हम बुद्ध को मानने वाले हैं लेकिन कभी-कभी युद्ध भी अनिवार्य हो जाते हैं।

modi

पीएम मोदी ने जयश्रीराम के उद्घोष के साथ अपनी बात शुरू की। मोदी ने लखनऊवासियों को विजयादशमी की शुभकामनाएं दी। पीएम ने कहा कि धरती के इसी भूभाग ने राम और कृष्ण दिए हैं।

उन्होंने कहा कि विजयादशमी पर लखनऊ आकर वो खुद को धन्य पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि रावण को तो हर वर्ष जलाते हैं। इस परंपरा से हम क्या सबक लें।

हम संकल्प ले कि हमारे भीतर और सामाजिक जीवन में जो बुराई हैं, उनको खत्म करेंगे। हर साल रावण जलाते हुए ये हिसाब-किताब करना चाहिए कि हमने अपनी कितनी बुराई खत्म की।

आज उस समय जैसी राम और रावण की लड़ाई नहीं है लेकिन हमारे भीतर एक द्वन्द है। उन्होंने कहा कि सभी बुराईयों को खत्म करन का बल किसी के पास नहीं है लेकिन कोशिश तो सबको करनी चाहिए।

गिरने लगी बिल्डिंग तो खुद मरकर भी बेटी को जिंदगी दे गया पिता

आतंकवाद मानवता का दुश्मन है

हमारे अंदर बुरी सोच का जो रावण है, उसे मारकर राम को गौरवशाली बनाना है। उन्होंने लखनऊ रामलीला कमैटी को बधाई देते हुए कहा कि आपने समाज की बुराईयों पर प्रहार करने का काम किया है, जो सराहनीय है।

उन्होंने आतंकवाद पर प्रहार करते हुए कहा कि ये मानवता का दुश्मन है और राम मानवता के मूल्यों के प्रतिनिधि हैं। राम मानव मूल्यों की मिसाल है।

पीएम ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ सबसे पहली लड़ाई जटायु ने लड़ी है, इस बात की रामायण गवाह है। उन्होंने कहा कि हम देशवासी राम ना सही लेकिन जटायु की तरह तो आतंकवाद के खिलाफ लड़ सकते हैं।

अमेरिका ने शुरू में आतंकवाद को प्रशासन की समस्या बताता था लेकिन खुद पर हमले के बाद उसे भी समझ में आ गया कि ये क्या है।

पीएम ने कहा कि जिस तरह आतंकवादी निर्दोषों की जान ले रहा है, वो खतरनाक है। आज पूरे विश्व को एक होकर आतंक के खिलाफ लड़ाई लड़नी पड़ेगी।

गंदगी भी रावण का रूप है

मोदी ने कहा कि गंदगी भी रावण का ही रूप है, जो बच्चों की जान ले लेती है। ये गंदगी किसी परिवार को तबाह कर देती है। मोदी ने कहा कि अशिक्षा से भी हमे मुक्ति पानी होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि रावण को तो हम हर साल जलाते हैं और हर साल जलाते रहेंगे लेकिन हम आज भी बेटे और बेटी में फर्क करते हैं। हम आज भी गर्भ में बेटी को मार देते हैं।

उन्होंने कहा कि आज वर्ल्ड गर्ल चाइल्ड डे है, ऐसे में हम संकल्प करें कि बेटी और बेटे में फर्क ना करेंगे। उन्होंने कहा कि ओलंपिक में भी बेटियों ने ही हमारा मान बढ़ाया।

सभी धर्म की महिलाओं को मिले समान अधिकार

पीएम मोदी ने कहा कि हिन्दु, मुस्लिम, सिख और ईसाई हर समुदाय की महिलाओं के लिए एक समान अधिकार होने चाहिए। सबको बराबर हक मिलने चाहिएं।

पीएम ने कहा कि कभी-कभी परिस्थितियों के आगे युद्ध जरूरी हो जाते हैं लेकिन ये युद्ध की नहीं बुद्ध की भूमि है। पीएम ने कहा कि जातिवाद, सांप्रदायिकता और ऊंच-नीच रावण के ही रूप है।

दशहरा उत्सव में भाग लेने ऐशबाग के रामलीला ग्राउंड पहुंचे पीएम मोदी का जोरदार स्वागत किया गया। उनको गदा, धनुष बाण और सुदर्शन चक्र देकर सम्मनित किया गया।

MODI

राज्यपाल रामनाईक, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, लालजी टंडन, दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्या पीएम के साथ मंच पर थे। पीएम ने सबसे पहले मंच पर मौजूद राम-लक्ष्मण की आरती की। इसके बाद भाजपा नेताओं ने पीएम मोदी का स्वागत किया।

ऐशबाग के रामलीला ग्राउंड में होने वाले दशहरा महोत्सव के गवाह आज पीएम मोदी भी बन रहे हैं। महोत्सव का हिस्सा बनने पहुंचे पीएम मोदी का विमान आज शाम लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर उतरा।

यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। गृहमत्री राजनाथ सिंह और यूपी के राज्यपाल रामनाईक भी पीएम की आगवानी को मौजूद रहे।

अमौसा एयरपोर्ट से मोदी का काफिला अहिमामऊ से होते हुए रामलीला ग्राउंड पहुंचा है। रास्ते में पीएम की एक झलक पाने के लिए भारी भीड़ जमा रही। भाजपा कार्यकर्ताओं ने पीएम के काफिले पर फूल बरसाए। पुलिस ने पूरे शहर में सुरक्षा का कड़ा बंदोबस्त किया है।

ऐशबाग के रामलीला मैदान में लखनऊ और उत्तर प्रदेश के भाजपा नेता ही दिखाई दे रहे हैं। भाजपा नेताओं की भीड़ को मंच से दूर रखने की कोशिश की जा रही है। भाजपा के 15 वरिष्ठ नेताओं को ही पीएम के सम्मान का मौका मिला।

इंदौर टेस्ट में भारत की शानदार जीत, न्यूजीलैंड को 321 रनों से हराया

रामलीला ग्राउंड में भाजपा कार्यकर्ता और सुरक्षाकर्मी ही दिख रहे हैं। आम जनता को रामलीला मैदान में जाने की इजाजत नहीं है। ऐसा पीएम की सुरक्षा के मद्देनजर किया गया है।

ये पहला मौका है जब प्रधानमंत्री मोदी दशहरा पर दिल्ली से बाहर होंगे। इससे पहले वो दिल्ली में ही बुराई पर अच्छाई के प्रतीक इस त्यौहार को मनाते रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Narendra Modi arrives in Lucknow to participate in Dussehra Mahotsav
Please Wait while comments are loading...