जंगल में झूलता मिला दंपति का शव, लेकिन गए तो बुआ के घर थे...

Posted By: Prashant
Subscribe to Oneindia Hindi

मिर्जापुर। उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले के मड़िहान थाना क्षेत्र के सोनौहा व गढ़वा गांव के बीच चकचउआ नाला के पास जंगल में सोमवार की सुबह आधा किमी दूरी पर पति-पत्नी का पेड़ पर फंदे से लकटता शव बरामद हुआ है। सुबह रास्ते से गुजर रहे चरवाहों ने पुलिस और प्रधान को सूचना दी। एक घंटे बाद दोनों की शिनाख्त हो गई। दंपती शुक्रवार को शाम को ही साइकिल लेकर घर से निकले थे। अलग-अलग स्थानों पर शव मिलने के कारण दोनों के हत्या की आशंका जताई जा रही है। पुलिस प्रथम दृष्टया आत्महत्या का मामला मानकर जांच कर रही है। एसपी आशीष तिवारी क्राइम ब्रांच, फील्ड यूनिट, डाग स्क्वाएड टीम के साथ मौके पर पहुंच छानबीन की।

शुक्रवार को पत्नी को लेकर उसके बुआ के घर गया था पति

शुक्रवार को पत्नी को लेकर उसके बुआ के घर गया था पति

मडिहान थाना क्षेत्र के शीतलगढ़ निवासी 30 वर्षीय मिट्ठू कोल अपनी पत्नी 27 वर्षीय ऊषा के साथ शुक्रवार की दोपहर साइकिल लेकर निकल गया था। मिट्ठू के पिता जोखई तीन वर्षीय पौत्री सपना को लेकर खेत में काम करने गए थे और मां महुरी देवी शिवचर्चा में गई थी। शाम को जोखई घर आए तो मिट्ठू व उसकी पत्नी नहीं थे। शनिवार की सुबह दोनों के वापस न आने पर जोखई शाम को पुत्र के ससुराल पड़रिया कला पहुंचे। वहां पहुंचने पर समधी कल्लू ने बताया कि मिट्ठू अपनी पत्नी के बुआ के घर ढोलए मुर्तियां में है। इस बात को सुनकर जोखई घर लौट आए। रविवार को भी वापस न आने पर सोमवार की सुबह वह पत्नी को लेकर फिर उसके ससुराल पहुंचे। उसके न मिलने पर वापस घर लौट रहे तो जंगल के पास उन्हें जानकारी हुई के उनके पुत्र और बहु का शव फंदे से लटका मिला है।

 पांच माह पूर्व दिल्ली से लौटा था मिट्ठू

पांच माह पूर्व दिल्ली से लौटा था मिट्ठू

मिट्ठू की शादी 2010 में ऊषा से हुई थी। दोनों को एक तीन वर्ष की पुत्री सपना है। मिट्ठू का बड़ा भाई खिचड़ू दोनों पैरों से दिव्यांग है। दोनों भाई और माता-पिता साथ ही रहते थे। मिट्ठू दिल्ली में एक बैटरी कंपनी में काम करता था। पांच माह पूर्व घर लौटा था। पिता के साथ खेतों में मजदूरी करने का कर रहा था।

डाग स्क्वाड आया पर डॉग गाड़ी से नहीं उतरा

डाग स्क्वाड आया पर डॉग गाड़ी से नहीं उतरा

दंपती के शव मिलने की सूचना पर पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी क्राइम ब्रांच, मड़िहान थाना प्रभारी केके सिंह, पटेहरा चौकी प्रभारी दीपक कुमार, फिल्ड यूनिट और डाग स्क्वाएड के साथ छानबीन की। फिल्ड यूनिट ने जरूरी साक्ष्यों को इकट्ठा किया। डाग स्क्वाएड टीम के सदस्य गाड़ी से उतर कर छानबीन किए पर डाग गाड़ी में ही बैठा रहे। आखिर डॉग गाड़ी से क्यों नहीं उतरा।

आखिर क्यों गया था पत्नी के बुआ के घर

आखिर क्यों गया था पत्नी के बुआ के घर

मिट्ठू शुक्रवार को अपनी पत्नी के बुआ के घर गया था। यह जानकारी उसके माता-पिता को भी नहीं था। उसके पिता जब उसके ससुराल पहुंचे तो उससे ससुर ने जगह-जगह फोन कर पता लगाता तब पता चला कि वह पत्नी ऊषा के बुआ के घर गया था। वहां से वह शनिवार की शाम को घर के लिए लौटा। इस दौरान ही फंदे पर लटककर दोनों की मौत हुई। यह पता नहीं चल सका है कि आखिर वह पत्नी के बुआ के घर क्यों गया था।

ये भी पढ़ें- तीन साल पहले जिन दो सगी बहनों को लेकर भाग गया था बाबा, अब मिली इस हाल में

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mirzapur couple found hanging in jungle in Uttar Pradesh
Please Wait while comments are loading...